उपचुनाव

गुना, डेस्क रिपोर्ट मध्यप्रदेश (Madya pradesh) में हुए उपचुनाव (by-election) ने कई स्तर पर राजनीति को बदल दिया है। एक तरफ जहां सिंधिया समर्थित क्षेत्र ग्वालियर-चंबल (gwalior-chambal) में कांग्रेस में सेंध लगा दी है। वहीं दूसरी तरफ दिग्विजय सिंह (Digvijay singh) के राधौगढ़ (raghogarh) में ज्योतिरादित्य सिंधिया (jyotiraditya scindia) ने कील ठोक दी है। जहां दिग्विजय सिंह की राजनीतिक कैरियर में पहली बारी ऐसी सभा का आयोजन किया जा रहा है। जिसमें राज परिवार का एक सदस्य भी मौजूद नहीं होगा।

दरअसल ज्योतिरादित्य सिंधिया के कट्टर समर्थक और शिवराज सरकार के कैबिनेट मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया (mahendra sinh sisodhiya) राधौगढ़ में आम सभा को संबोधित करेंगे। राधौगढ़ के किले से 3 किलोमीटर दूर रानी मंदिर में आम सभा का आयोजन किया जाएगा। जिसमें भाजपा के पूर्व विधायक ममता मीना और जिले के पार्टी कार्यकर्ता भी मौजूद रहेंगे। कैबिनेट मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया अपनी जीत का विजय जुलूस राधौगढ़ में निकालेंगे।

Read More: AgustaWestland Scam: इस बड़े घोटाले में अब कमलनाथ के बेटे नकुलनाथ का नाम आया सामने

महेंद्र सिंह सिसोदिया उपचुनाव में बमोरी (Bamori) से भाजपा (BJP) के टिकट पर चुनाव जीते हैं। इससे पहले कैबिनेट मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया ने कहा था कि अगर वह चुनाव जीत जाते हैं तो राधौगढ़ से उनकी विजय जुलूस निकलेगी। अब इस मामले में कैबिनेट मंत्री सिसोदिया ने कार्यक्रम की रणनीति बनाई है।

बता दे कि राधौगढ़ में रोड शो के दौरान 300 पुलिस बल तैनात किए जाएंगे। जिसके लिए पुलिस अधीक्षक ने एसडीओपी सहित प्रभारियों को दिशा निर्देश जारी कर दिए हैं। इतना ही नहीं कैबिनेट मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया राधौगढ़ में मंगलवार को अफसरों की बैठक भी लेंगे।

ज्ञात हो कि राधौगढ़ मध्य प्रदेश के राजा कहलाने वाले दिग्विजय सिंह का गढ़ माना जाता है। ऐसे में बमोरी से चुनाव जीतकर दिग्विजय सिंह के गढ़ में अप्रत्यक्ष रूप से ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कील ठोक दी है। हालांकि अभी तक इस मामले में किसी भी कांग्रेसी का बयान सामने नहीं आया है।