कांग्रेस विधायक ने सीएम शिवराज को लिखा पत्र, रेमडेसिविर की कालाबाजारी रोकने की ये मांग

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। कोरोना वायरस महामारी से बचाव के लिए उपयोग होने वाले इंजेक्शन रेमडेसिविर (Remdesivir) कालाबाजारी की शिकायतों के बीच कांग्रेस विधायक ने सीएम शिवराज को पत्र लिखा है। इसमें उन्होने कहा है कि कोरोना महामारी के बीच दवा की कालाबाजारी करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए। विधायक ने ऐसे लोगों के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई करने की मांग की है।

ये भी देखिये – दिल्ली में सभी स्कूल बंद, सीएम अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर दी जानकारी

ग्वालियर दक्षिण से कांग्रेस विधायक प्रवीण पाठक ने पत्र में लिखा है कि रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी की शिकायतों के बीच इस महामारी से लड़ने वाले मरीजों एवं उनके परिजनों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। उन्होने रेमडेसिविर की कालाबाजारी करने वालों के विरुद्ध कठोर दंडात्मक कार्रवाई करने की मांग की है।
विधायक ने पत्र में लिखा है कि कोरोना महामारी से बचाव हेतु दवा इंजेक्शन रेमडेसिविर (Inj.REMDESIVIR) का बाजार में अधिकतम विक्रय मूल्य लगभग ₹ 700 से ₹ 800 है, किंतु प्रदेश में कुछ दुकानदार /दवा विक्रेता/ स्टॉकिस्ट कालाबाजारी कर इस दवा के इंजेक्शन को ₹ 10000 से ₹ 15000 तक की कीमत में विक्रय कर रहे हैं। इस समय कोरोना से हालात भयावह है और मृत्यु का आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है। ऐसे में आम जनता को इंजेक्शन रेमडेसिविर कोरोना की लड़ाई में जान बचाने का काम कर सकता है, लेकिन मध्यप्रदेश में अब दवा माफिया भी सक्रिय हो चुका है और जनता के साथ दवा इंजेक्शन के नाम पर लूट का खेल चालू है। इस प्रकार की घटना मध्यप्रदेश के नरसिंहपुर जिले में भी सामने आई है।

पत्र के अंत प्रवीण पाठक ने सीएम से मांग की है कि ऐसी स्थिति में कोरोना की महामारी से बचाव हेतु संपूर्ण मध्यप्रदेश में इंजेक्शन रेमडेसिविर आम जनता को उचित कीमत पर आसानी से उपलब्ध हो सके तथा संपूर्ण मध्यप्रदेश में इस दवा की कालाबाजारी करने वालों के विरुद्ध तत्काल कठोर दंडात्मक कार्रवाई करने हेतु संबंधित को आदेशित करने की कृपा करें ।

कांग्रेस विधायक ने सीएम शिवराज को लिखा पत्र, रेमडेसिविर की कालाबाजारी रोकने की ये मांग