सिंधिया के महल में दावेदारों का मेला, हर किसी का दावा उससे अच्छा प्रत्याशी कोई नहीं

अनुमान लगाया जा रहा है कि सिंधिया के पास करीब 5 से 6 हजार बायोडाटा पहुंचे हैं। 

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। दो दिवसीय दौरे पर आज ग्वालियर पहुंचे ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) के महल जय विलास पैलेस (Jai Vilas Palace) में आज मेला जैसा माहौल रहा। हजारों की संख्या में दावेदार बायोडाटा लेकर “महाराज सिंधिया” के पहुंचे। सिंधिया ने आत्मीयता के साथ सबके साथ मुलाकात की, सभी दावेदार खुद से अच्छा दूसरा उम्मीदवार नहीं होने का दावा करते दिखाई दिए।

पंचायत (MP Panchayat Election 2022) और नगरीय निकाय चुनावों (MP Urban Body Election 2022) के लिए भारतीय जनता पार्टी को अपने उम्मीदवारों की घोषणा करनी है। रायशुमारी का दौर जारी है, उम्मीद की जा रही है कि दो या तीन दिन में पार्टी अपने प्रत्याशियों की घोषणा कर देगी। इस बीच दावेदारों का मन टटोलने, माहौल को देखने और कार्यकर्ताओं में उत्साह भरने के लिए केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ग्वालियर (Gwalior News) के दो दिवसीय दौरे पर आज पहुंचे।

ये भी पढ़ें – BJP जिला अध्यक्ष के वायरल वीडियो पर सिंधिया ने कही बड़ी बात

जय विलास पैलेस में उन्होंने कार्यकर्ताओं से मुलाकात की। सिंधिया (Scindia) के आने की पूर्व सूचना के चलते हजारों की संख्या में दावेदार बायोडाटा के साथ सिंधिया महल पास पहुंचे।  हर कोई सिंधिया से वन टू वन मुलाकात करना चाह रहा था।  सिधिया भी किसी की पीठ, तो किसी के कंधे पर हाथ रखकर आश्वस्त कर रहे थे, उधर अपना बायोडाटा सौंपने वाला दावेदार सिंधिया के पैर छूते हुए कह रहा था श्रीमंत हमपर कृपा करियो, कोई कह रहा था महाराज मेरी जीत पक्की है टिकट दिलवा दियो।

ये भी पढ़ें – Gwalior पहुंचे ज्योतिरादित्य सिंधिया, टिकट वितरण को लेकर कही बड़ी बात

यहां खास बात ये देखने को मिली कि महल में जितने दावेदार पहुंचे उनमें से अधिकांश ऐसे नेता और कार्यकर्ता थे जो सिंधिया समर्थक हैं और सिंधिया के कांग्रेस छोड़ने के बाद कांग्रेस छोड़ चुके है।  अब वे अपने महाराज के सहारे भाजपा में अपना भविष्य सुरक्षित करना चाहते हैं। अनुमान लगाया जा रहा है कि सिंधिया के पास करीब 5 से 6 हजार बायोडाटा पहुंचे हैं।

ये भी पढ़ें – नगरीय निकाय चुनाव को लेकर कांग्रेस का महामंथन, आखिरकार 16 में 11 महापौर प्रत्याशियों के नाम तय

उधर सिंधिया ने कहा कि पार्टी का एक ही क्राइटेरिया है कि अधिक से अधिक भाजपा की सीटें आएं और उसी हिसाब से प्रत्याशी मैदान में उतारे जाएंगे।