ग्वालियर के अंकित जूनियर राष्ट्रीय हॉकी प्रशिक्षण शिविर के लिए चयनित  

Gwalior's-Ankit-selected-for-Junior-National-Hockey-Training-Camp

ग्वालियर। मेजर ध्यानचंद  कैप्टन रूप सिंह जैसे हॉकी खिलाड़ी देने वाली ग्वालियर की धरती अब हॉकी की ऐसी नर्सरी बन गई है जहाँ तैयार हो रहे हॉकी खिलाड़ी राष्ट्रीय और अंतर राष्ट्रीय स्तर पर ग्वालियर एवं मध्यप्रदेश का नाम हॉकी के मानचित्र पर रोशन कर रहे हैं।   

खेल एवं युवा कल्याण विभाग द्वारा संचालित दर्पण मिनी स्टेडियम ने पिछले कुछ वर्षों में युवा खिलाड़ी दिए हैं जो आज अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा रहे हैं।  इसी कड़ी में आज एक नाम और  जुड़ गया है।  ये नाम है अंकित पाल का।  ग्वालियर के दर्पण कॉलोनी में रहने वाले अंकित का चयन जूनियर राष्ट्रीय हॉकी प्रशिक्षण शिविर के लिए हुआ  है।  ये शिविर बंगलुरु में 11 मार्च  मार्च  से 31 मार्च तक चलेगा। अंकित दर्पण मिनी स्टेडियम के ऐसे खिलाड़ी हैं जिनका चयन राष्ट्रीय शिविर के लिए हुआ है।  फॉरवर्ड पोजीशन पर खेलने वाले अंकित पाल ने हॉकी की बारीकियां एनआईएस कोच अविनाश भटनागर से दर्पण  मिनी स्टेडियम में  सीखी हैं। अंकित इस समय मध्यप्रदेश पुरुष हॉकी एकेडमी भोपाल में प्रशिक्षण ले रहे हैं । गौरतलब है कि कोच अविनाश भटनागर की चार शिष्याएं अब तक ग्वालियर का नाम अंतर राष्ट्रीय और  अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर रोशन  कर चुकीं हैं। इनमें  करिश्मा यादव, इशिका चौधरी , नीरज राणा और नेहा सिंह के नाम शामिल हैं।  इसमें करिश्मा यादव महिला हॉकी की प्रदेश की पहली अंतर राष्ट्रीय हॉकी खिलाडी हैं करिश्मा और नेहा सिंह महिला हॉकी के इतिहास की पहली एकलव्य पुरस्कार  प्राप्त खिलाडी भी हैं।  वहीँ मध्यप्रदेश शासन 2018 में दर्पण मिनी स्टेडियम  की खिलाडी नेहा सिंह को भी एकलव्य अवार्ड दे चुका है। इसके अलावा इशिका चौधरी उस भारतीय हॉकी जूनियर टीम की सदस्य रह चुकी है जिसने पिछले दिनों भारत को यूथ ओलम्पिक में सिल्वर मैडल दिलाया था।