मातम में बदली खुशियां, हर्ष फायरिंग में चली गोली से दूल्हे के चाचा की मौत

ग्वालियर।अतुल सक्सेना। कानूनी प्रतिबंध के बावजूद ग्वालियर अंचल में बंदूक को शान समझने वाले लोग खुले आम हर्ष फायर कर रहे हैं। ऐसे ही एक हर्ष फायर ने दूल्हे के चाचा की जान ले ली। मामला ग्वालियर जिले के देहात थाना हस्तिनापुर का है।

पुलिस और परिजनों से मिली जनारी के अनुसार हस्तिनापुर थाना क्षेत्र के बिलारा गांव में रहने वाले देवाराम कुशवाह के यहां सगाई समारोह था। मंगलवार की रात हंसी खुशी में सगाई की रस्में पूरी की जा रही थी। डीजे पर कुछ युवक डांस कर रहे थे। इसी बीच गांव में रहने वाला हरेंद्र राणा अपने साथी बाली और गुड्डू के साथ वहां आया और डांस करने लगा। हरेंद्र राणा अपने दादा की लाइसेंसी माउजर बंदूक लेकर पहुंचा था उसने वहां हर्ष फायरिंग की । दूल्हे देवाराम के चाचा उदल सिंह ने जब उसे ऐसा करने से रोका तो वह कुछ देर के लिए वो रुक गया। लेकिन उदल सिंह के लौटते ही हरेंद्र ने फिर फायर कर दिया जिसकी गोली उदल सिंह सीने में लगी और सीधे पार हो गई। वे वहीं गिर पड़े, परिजन उन्हें गंभीर हालत में ग्वालियर लेकर भागे लेकिन अस्पताल पहुंचते पहुंचते उन्होंने दम तोड़ दिया। मौका। देखकर हरेंद्र राणा और उसके साथी फरार हो गए। शिकायत के बाद हस्तिनापुर पुलिस ने हरेंद्र राणा और उसके दोनों साथियों के खिलाफ हत्या की कोशिश हत्या की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है सभी आरोपी फरार हैं उनकी तलाश की जा रही है। बहरहाल जिस घर में खुशियों का माहौल था यहाँ अब मातम पसर गया है।