ग्वालियर

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के ग्वालियर नगर निगम (Gwalior Municipal Corporation) की एक बड़ी लापरवाही सामने आई है। शहर (Gwalior) के एक बड़े हिस्से को पेयजल सप्लाई करने वाले टैंक में बड़ी संख्या में नहाते बच्चों का वीडियो वायरल (Video Viral) हुआ है।

यह भी पढ़े.. MP School 2021: कक्षा 1 से 8वीं के लिए Whatsapp पर आएगी शिक्षण सामग्री, ऐसे होगा मूल्यांकन

ग्वालियर (Gwalior) के सागरताल क्षेत्र में टंकी वाले हनुमान मंदिर के पास बने निर्धन आवास योजना के सरकारी क्वार्टरों के पास बने पानी के टैंक में नहाते बच्चों का वीडियो इस समय सोशल मीडिया (Social Media) की सुर्खिया बना हुआ है। दरअसल एक बड़े क्षेत्र को पेयजल सप्लाई करने वाले पानी के इस टैंक में क्षेत्र के मासूम नाबालिग बच्चे नहाते मिले है।

आपको बता दे कि पेयजल सप्लाई टैंक वाला क्षेत्र प्रतिबंधित क्षेत्र में आता है। चूंकि यहाँ से लोगों के घरों में पीने के पानी की सप्लाई की जाती है इस लिहाज से ये संवेदनशील क्षेत्र भी है यहाँ सुरक्षा चौकस होनी चाहिये । लेकिन बच्चों को नहाते देखकर यहाँ की सुरक्षा व्यवस्था की हकीकत समझ में आती है ।वायरल वीडियो (Viral Video) में दिख रहे बच्चे कुछ टैंक के ऊपर हैं तो कुछ टैंक के अंदर नहा रहे हैं। इनकी संख्या 10-12 दिखाई दे रही है।

यह भी पढ़े.. Sex Racket: आपत्तिजनक हालत में 23 युवक-युवती गिरफ्तार, ग्राहकों से वसूलते थे 6000 रुपए

खास बात ये है कि बच्चों ने टैंक में टिल्लु पंप भी लगा रखा है। वीडियो दिन के समय का दिखाई दे रहा है। ऐसे समय पर तो यहाँ तैनात कर्मचारी मौजूद होना चाहिए। लेकिन लापरवाही देखिये कि बच्चों को रोकने टोकने वाला कोई नहीं है । वायरल वीडियो देखकर ये कहने में संदेह नहीं होना चाहिए कि ऐसी लापरवाही कभी भी बड़े हादसे को आमंत्रण दे सकती है।