यहाँ निकली राम धुन यात्रा, उत्साह में भूले नियम, कलेक्टर का आदेश हवा में, पुलिस रही मूक दर्शक

ग्वालियर,अतुल सक्सेना

अयोध्या में बनने जा रहे भव्य श्री राम मंदिर को लेकर पूरे देश में उत्साह है। जगह जगह धार्मिक आयोजन किये जा रहे हैं। प्रधानमंत्री द्वारा मंदिर के लिए भूमि पूजन किये जाने के बाद ग्वालियर में हिंदू महासभा ने राम धुन यात्रा निकाली। लेकिन उत्साह में कार्यकर्ता नियमों की धज्जियां उड़ाते दिखे। खास बात ये रही कि यात्रा के दौरान सुरक्षा के लिए पुलिस मौजूद थी लेकिन नियमों का पालन कराने की उसने भी कोशिश नहीं की।

अयोध्या में बनने जा रहा भव्य श्री राम मंदिर सबकी आस्था का केंद्र है। श्री राम को मानने वाले करोड़ों लोगों के लिए आज हुआ भूमि पूजन दिवाली जैसा है इसीलिए लोगों में भारी उत्साह है। इसी उत्साह को व्यक्त करते हुए राम मंदिर आंदोलन में प्रमुख भूमिका निभाने वाली हिंदू महासभा की ग्वालियर इकाई ने एक राम धुन यात्रा निकाली। दौलत गंज स्थित पार्टी कार्यालय से रैली की शक्ल में शुरू हुई राम धुन यात्रा पारख जी का बाड़ा, डीडवाना ओली, गस्त का ताजिया होती हुई राम मंदिर पर जाकर समाप्त हुई। जहाँ जहाँ हिंदू महासभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ जयवीर भारद्वाज एवं अन्य पदाधिकारियों ने भगवान की आरती की।

इस राम धुन यात्रा की खास बात ये रही कि इसकी सुरक्षा के लिए रास्ते भर पुलिस तैनात रही बावजूद इसके कलेक्टर के आदेश की धज्जियां उड़ीं और कोरोना की गाइड लाइन का पालन नहीं हुआ। हाथ में भगवा ध्वज लिए हिंदू महासभा के कार्यकर्ताओं ने सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान नहीं रखा। कई कार्यकर्ता बिना मास्क के भी थे। गौरतलब है कि कलेक्टर यानी जिला दंडाधिकारी कौशलेंद्र विक्रम सिंह ने जिले मे पिछले कई महीनों से जिले में धारा 144 लगा रखी है इस अवधि में किसी भी तरह की राजनैतिक या धार्मिक रैली या अन्य आयोजन प्रतिबंधित है। कलेक्टर ने 4 अगस्त को ही इसको पुनः जारी किया था बावजूद इसके उत्साह में हिंदू महासभा के कार्यकर्ताओं ने नियमों का पालन नहीं किया और पुलिस भी सुरक्षा करती रही लेकिन नियमों का पालन कराना जरूरी नहीं समझा।