प्रद्युम्न सिंह तोमर का बयान- योजनाओं का लाभ दिलाने अब चौपाल पर चलेगी सरकार

प्रद्युम्न सिंह तोमर (Pradyuman Singh Tomar) ने कहा कि गरीब एवं असहाय को सरकार की योजनाओं का लाभ दिलाने चौपाल पर सरकार चलेगी । 

ऊर्जा मंत्री

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। सत्ता में आने के बाद से ही प्रदेश की शिवराज सरकार (Shivraj Government) लगातार विकास कार्यों और जन हितैषी योजनाओं पर विशेष फोकस किए हुए है। कोशिश की जा रही है कि प्रदेश के हर व्यक्ति को योजनाओं का लाभ मिले और कोई भी पात्र इससे वंचित ना हो। इसी कड़ी में अब ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) समर्थक और शिवराज सरकार में ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर (Pradyuman Singh Tomar) का बड़ा बयान सामने आया है।तोमर ने कहा कि गरीब एवं असहाय को सरकार की योजनाओं का लाभ दिलाने चौपाल पर सरकार चलेगी ।

यह भी पढ़े.. MP School: शासकीय स्कूलों के लिए शिवराज सरकार की बड़ी योजना, नए सत्र से मिलेगा लाभ

दरअसल,  शनिवार को ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने ग्वालियर (Gwalior) में जनसमस्या निवारण शिविर में पहुंचे थे जहां उन्होंने  कहा है कि जनसमस्या निवारण शिविर का आयोजन तब तक होता रहेगा जब तक सभी गरीबों को लाभ नहीं मिल जाता। पात्र हितग्राही के घर-घर जाकर एवं चौपाल लगाकर प्रदेश सरकार की जनहितैशी योजनाओं का लाभ दिलाया जायेगा। कोई भी गरीब बिना राशन (Ration) के न रहे प्रदेश सरकार की यही मंशा है।

ऊर्जा मंत्री श्री तोमर ने कहा कि गरीबों एवं असहाय लोगों के लिए काम करना सबसे बडा पुण्य का काम है। आपका सेवक आपकी सेवा हमेशा करता रहेगा। शिविर के माध्यम से आम जनो की समस्याओ का निराकरण आसानी से हो सके, इसीलिए प्रत्येक क्षेत्र में शिविर का आयोजन किया जा रहा है। इसी प्रकार के शिविर अन्य क्षेत्रों में भी निरंतर लगाये जायेगें। इस अवसर पर सभी विभागों के अधिकारी, जनप्रतिनिधि और बड़ी संख्या में क्षेत्रवासी उपस्थित थे।

शिविर में लगभग 4500 आवेदन आये। इन समस्याओं को मंत्री  तोमर ने गंभीरता से सुना और उनमें से कुछ समस्याओं का निदान तुरंत किया तथा कुछ सबंधित विभाग के अधिकारी को भेज कर जल्द ही आम जनों को लाभ दिलाने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिए। शिविर में बिजली बिल से संबंधित सबसे ज्यादा समस्या आई, उन समस्याओं के निराकरण के लिए ऊर्जा मंत्री ने विद्युत विभाग के सभी अधिकारियों को बुलाकर मौके पर ही समस्याओं का निराकरण करवाकर हितग्राही को संतुष्ट कर घर भेजा।