धूमेश्वर पर सिंध नदी में डूबे दोनों दोस्तों के शव बरामद, दोस्तों के साथ गए थे पिकनिक मनाने

बताया जा रहा है कि मृतक आपस में गहरे दोस्त थे और इंजीनियरिंग के छात्र थे। किशन का परिवार नई सड़क पर रहता है जबकि किशान्तु का परिवार कम्पू में रहता है। घटना के बाद से परिजनों का रो रोकर बुरा हाल है।

ग्वालियर, अतुल सक्सेना, सलिल श्रीवास्तव । ग्वालियर (Gwalior) जिले के डबरा (Dabra) ब्लॉक के भितरवार क्षेत्र में स्थित धूमेश्वर महादेव धाम (Dhumeshwar mahadev) के पास बहने वाली सिंध नदी में रविवार को डूबे दो दोस्तों के शव सोमवार को मशक्कत के बाद बरामद कर लिए गए हैं। शवों को पीएम के लिए भेज दिया गया है।

यह भी पढ़ें…Shivpuri : फसल बेचकर आए किसान के ढाई लाख उड़ाए, सीसीटीवी में कैद हुआ नाबालिक चोर

ग्वालियर के रहने वाले 10 दोस्त रविवार को धूमेश्वर पर पिकनिक मनाने गए थे। सभी दोस्त इस दौरान वहाँ से बहने वाली सिंध नदी में नहाने उतर गए। सभी दोस्त मस्ती में थे, वीडियो बना रहे थे, सेल्फी ले रहे थे इसी दौरान नदी में तेज बहाव आया और 22 वर्षीय किशन होतवानी एवं 22 वर्षीय किशान्तु शाक्य उसमें बह गया। दोनों के बहते ही वहाँ चीख पुकार मच गई, जिसके बाद मौके पर पुलिस पहुँच गई। कुछ देर में ही लोकल गोताखोर आ गए फिर ग्वालियर से एसडीआरएफ की टीम पहुँच गई। दिन भर की तलाश में कुछ हासिल नहीं हुआ फिर अंधेरा होने पर सर्च ऑपरेशन शुरू बंद करना पड़ा।

यह भी पढ़ें…Chhindwara: मजदूरों से 12 सूत्रीय मांगों को लेकर कांग्रेस ने राज्यपाल के नाम तहसीलदार को सौंपा ज्ञापन

सोमवार को सुबह पुलिस ने फिर से सर्च ऑपरेशन शुरू किया और फिर पुलिस को एक सफलता मिली। एसडीआरएफ को टीम को पहले किशन होतवानी का शव मिला। फिर लगातार प्रयास के बाद देर शाम किशान्तु का शव भी मिल गया। भितरवार पुलिस ने शवों का पंचनामा बनाकर उन्हें पीएम हाउस भिजवा दिया है। बताया जा रहा है कि मृतक आपस में गहरे दोस्त थे और इंजीनियरिंग के छात्र थे। किशन का परिवार नई सड़क पर रहता है जबकि किशान्तु का परिवार कम्पू में रहता है। घटना के बाद से परिजनों का रो रोकर बुरा हाल है।

gwalior dabra gwalior dabra