एजेंसी मालिक बन बैंक मैनेजर को झांसा देकर 26.65 लाख की ठगी करने वाले दो गिरफ्तार

two-arrest-in-fraud-case-from-bank

ग्वालियर। बैंक मैनेजर को झांसा देकर शहर की प्रतिष्ठित कार एजेंसी प्रेम मोटर्स के खाते से अपने खाते में 26 लाख 65 हजार ट्रांसफर कराने वाले दो ठगों को पुलिस ने दिल्ली जाकर गिरफ्तार कर लिया। 

एडिशनल एसपी क्राइम ब्रांच पंकज पांडे के मुताबिक शनिवार को प्रेम मोटर्स के एकाउंटेंट तुलसीराम ने शिकायत दर्ज कराई की किसी ने उनकी कम्पनी के एसबीआई के खाते से RTGS के माध्यम से दूसरे खाते में 26 लाख 65 हजार रुपए ट्रांसफर किये हैं। घटना की जानकारी लगते ही सबसे पहले बैंक से भुगतान की प्रक्रिया पर रोक लगाईं। उसके बाद क्राइम ब्रांच थाना प्रभारी विनोद छाबई को जांच सौंपी। पुलिस ने जब जांच की तो खाता दिल्ली का निकला। उसके बाद पुलिस ने खाताधारक की तलाश की और दिल्ली पुलिस को इसकी सूचना दी और जैसे ही खाताधारक धीरज कुमार निवासी गाजियाबाद और उसके साथी राजहंस कुमार निवासी दिल्ली को गिरफ्तार कर लिया और ग्वालियर ले आई। पूछताछ में खाताधारक ने खुद को दोषी ना बताते हुए राजहंस को सरगना बताया।

5 महीने पहले खाता किराये पर लिया 

खाताधारक धीरज ने जो कहानी सुनाई उसके मुताबिक राजहंस ने पांच महीने पहले उसके खाते को किराए पर उपयोग करने के लिए लिया था राजहंस ने उससे कहा था कि तुम्हें बैठे बैत्जे केवल खाते का किराया हर महीने मिलेगा। उसे ये भी नहीं पता कि उसके खाते में कितने रुपए ट्रांसफर किये और कितने निकाले। उसके खाते में तो ये पहला ही ट्रांसफर था। उधर पुलिस आरोपियों से कड़ी पूछताछ कर रही है जिससे पता लगाया जा सके कि वो अब तक इस तरीके से कितने लोगों के साथ कितने की ठगी कर चुके हैं।