MP Tourism: मध्य प्रदेश में शुरू हो रही होम-स्टे योजना, दुनिया भर के पर्यटकों के बीच है लोकप्रिय

विलेज होम स्टे योजना की शुरुआत छतरपुर (chhatarpur) के पांच गांवो से की जा रही है। इस योजना के तहत बाहर से आने वाले पर्यटक गांव में रहकर वहां के रहन-सहन और संस्कृति को करीब से समझ पाएंगे।

mp tourism

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश सरकार (madhya pradesh government) ने प्रदेश में पर्यटन (tourism) को बढ़ावा देने हेतु नई पहल की है। इसी के साथ पर्यटकों (tourist) को स्थानीय संस्कृति (regional culture) से परिचित करवाने हेतु होम स्टे योजना (home stay plan) पर भी ध्यान केंद्रित किया जा रहा है। विलेज होम स्टे योजना की शुरुआत छतरपुर (chhatarpur) के पांच गांवो से की जा रही है। इस योजना के तहत बाहर से आने वाले पर्यटक गांव में रहकर वहां के रहन-सहन और संस्कृति को करीब से समझ पाएंगे। इससे गांवो में रोजगार की भी वृद्धि होगी।

योजना के तहत सरकार ने कुछ नियम कायदे भी बनाए हैं जिनका पालन करना अनिवार्य होगा। इसके अंतर्गत
1. सैलानियों से सलीके से पेश आना
2. शांति भंग करने वाली सभी गतिविधयों से दूर रहना 3.पर्यटकों की प्राइवेसी में किसी भी तरह की दखलंदाज़ी नहीं करना
4.पर्यटकों के ठहरने, खाने आदि के लिए साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखना
आदि शामिल हैं।

यह भी पढ़ें… MP में 1322 नए कोरोना पॉजिटिव केस, CM ने जताई चिंता, सोमवार को होली पर फैसला

बता दें कि 2010 में मध्य प्रदेश सरकार ने देशी-विदेशी पर्यटकों के लिए बेड एन्ड ब्रेकफास्ट योजना लागू की थी। अब इसी योजना की नए सिरे से ब्रैंडिंग की जा रही है। इस योजना के तहत मकान मालिक अपने घर का एक हिस्सा सैलानियों हेतु उपलब्ध करवा सकते हैं। इसके साथ ही पर्यटकों को भोजन आदि अन्य आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाएंगी। दुनिया भर में होम स्टे को लेकर सैलानियों में काफी अधिक लोकप्रियता देखी गयी है।