Indore : कमलनाथ का मास्टरस्ट्रोक, आज विश्व आदिवासी दिवस के मौके पर करेंगे कई बड़े अभियानों का आगाज

Indore : आज विश्व आदिवासी दिवस (World Tribal Day) है, इस मौके पर कांग्रेस (Congress) प्रदेश भर में कई आयोजन कर रही है। वहीं आज विश्व आदिवासी दिवस के दिन कांग्रेस भारत छोड़ो आंदोलन की वर्षगांठ भी मनाने वाली है।

indore , kamalnath

इंदौर, डेस्क रिपोर्ट। आज विश्व आदिवासी दिवस (World Tribal Day) है, इस मौके पर कांग्रेस (Congress) प्रदेश भर में कई आयोजन कर रही है। वहीं आज विश्व आदिवासी दिवस के दिन कांग्रेस, भारत छोड़ो आंदोलन की वर्षगांठ भी मनाने वाली है। इसकी जिम्मेदारी पार्टी ने कई बड़े नेताओं पर सौंपी है। दरअसल, 2023 में कांग्रेस पर आदिवासियों की पूरी नजर बनी हुई है। ऐसे में आज विश्व आदिवासी दिवस के दिन पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ आज पातालपानी जाकर कई कार्यक्रमों में हिस्सा लेने वाले हैं।

जानकारी के मुताबिक, आज विश्व आदिवासी दिवस के दिन प्रदेश भर में भारत छोड़ो आंदोलन मनाया जा रहा है। यह स्वतंत्रता दिवस तक मनाया जाएगा। इस दौरान कांग्रेस आदिवासी सम्मान उत्सव भी मनाएगी। इसी के चलते पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ आज टंट्या मामा का आशीर्वाद लेने पातालपानी और भगवान परशुराम को प्रणाम करने जानापाव जाएंगे। आपको बता दें, प्रदेशभर में आज से कई कार्यक्रम होने वाले हैं, ऐसे में 9 अगस्त से 15 अगस्त तक हर जिले में तिरंगा यात्रा निकाली जाएगी। साथ ही आदिवासी सम्मान उत्सव भी कांग्रेस पार्टी द्वारा मनाया जाएगा। इस कार्यक्रम में कांग्रेस पार्टी के बड़े-बड़े नेता शामिल होंगे।

ये भी पढ़े – Indore : सावधान! इंदौर में तेजी से बढ़ रहे डेंगू-मलेरिया के मरीज, चिंता में स्वास्थ्य विभाग

आपको बता दें, आज विश्व आदिवासी दिवस के दिन पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्विटर पर एक संदेश लिखकर शेयर किया है जिसमें उन्होंने लिखा है कि विश्व आदिवासी दिवस की आप सभी को हार्दिक शुभकामनाएं। आदिवासी वर्ग हमारी वन संपदा और पर्यावरण के प्रथम प्रहरी है। ऐसे में इसी रूप में उन्हें सदैव जाना जाएगा। आगे उन्होंने लिखा कि आदिवासी वर्ग के उत्थान और उनके हक के लिए कांग्रेस हमेशा संकल्पित रहती है।

आगे उन्होंने लिखा कि आदिवासी वर्ग के सामाजिक आर्थिक व राजनैतिक मैं हमेशा ना सिर्फ कांग्रेस संरक्षक रही है। साथ ही उनकी भलाई के लिए हर बार कार योजनाएं भी कांग्रेस द्वारा समय-समय पर की गई है। इस वजह से उनके विकास की नई इबारत भी लिखी जा चुकी है।

उन्होंने अपने ट्वीट में आगे लिखा कि आज आदिवासी वर्ग निरंतर उत्पीड़न दमन अत्याचार का शिकार होती आ रही है। ऐसे में लगातार उनके हितों की अनदेखी की जा रही है। लेकिन अब समय आ गया है। इस अत्याचार दमन उत्पीड़न के खिलाफ मुखर होकर अपनी आवाज बुलंद करें।