इंदौर, आकाश धोलपुरे। इंदौर (Indore) में पुलिस ने 20 हजार के इनामी आरोपी को गिरफ्तार करने में सफतला हासिल की है। बतादें कि गृह निर्माण सहकारी संस्थाओं के माध्यम से करोड़ों रुपए की जमीन की अफरा-तफरी कर चुके कुख्यात भू माफिया दीपक मद्दा व उसके साले और मजदूर पंचायत ग्रह निर्माण सहकारी संस्था के उपाध्यक्ष रहे दीपेश बोरा, किशोर नचानि के बाद लंबे समय से फरार चल रहे ओम प्रकाश धनवानी पकड़ा गया है। जिस पर पुलिस ने 20 हजार का इनाम घोषित कर रखा था। वहीं फरार चल रहे दीपक मद्दा की गिरफ्तारी के लिए एसपी आशुतोष बागरी ने एक एसआईटी टीम का गठन किया है।

यह भी पढ़ें… केंद्र का मप्र के किसानों को बड़ा तोहफा, कृषि मंत्री बोले- संकल्प को पूरा करके दिखाया

दरसअल कुछ दिनों पहले इंदौर की जिला प्रशासन ने 30 भूमाफियाओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई थी। जिसमें अभी तक 24 भूमाफियाओं को गिरफ्तार किया जा चुका है। इसी कड़ी में इंदौर की खजराना पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर लंबे समय से फरार चल रहे 20 हजार के इनामी भूमाफ़िया ओम प्रकाश धनवानी को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। जानकारी के अनुसार फरार भूमाफिया ओमप्रकाश धनवानी ने हिंदुस्तान के पंजाब, राजस्थान के अलावा और भी कई जगह फरारी काटी है।

एसपी आशुतोष बागरी ने बताया कि मजदूर पंचायत ग्रह निर्माण सहकारी संस्था की जमीन पुष्पविहार कॉलोनी को कुछ भूमाफियाओं द्वारा धोखाधड़ी कर बेच दिया था। जिसमे पुलिस द्वारा लगातार भूमाफियाओं पर शिकंजा कसते हुए कुछ दिन पहले दीपेश बोरा, किशोर नचानी को गिरफ्तार किया था। वहीं जमीन की धोखाधड़ी का मास्टर माइंड दीपक मद्दा अभी भी फरार है। जिसके लिए एसपी ने एक एसआईटी टीम का गठन किया है। दीपक मद्दा, दीपेश बोरा, किशोर नाचानि और ओमप्रकाश धनवानी ने मिलकर मजदूर पंचायत संस्था के संचालक के साथ मिलकर करोड़ो रूपये की जमीन की हेरा-फेरी की थी। इन आरोपियों ने बैंक को भी ठगा और फर्जी तरीके से बैंकों से लोन भी ले लिया था। फिलहाल पुलिस आरोपी ओमप्रकाश धनवानी को न्यायलय में पेश कर उसे रिमांड में लेगी। और जमीन घोटाले के संबंध में उससे और जानकारी निकलवाने का प्रयास करेगी।