इंदौर में आया अवैध शराब दुकान संचालित करने का मामला, पियक्कड़ों सहित दुकान मालिक गिरफ्तार

देशी और विदेशी शराब के साथ नगदी भी जब्त की

इंदौर, आकाश धौलपुरे। इंदौर में शराब का एक माफिया ऐसा निकला कि उसने सरकार और आबकारी नियमों को धता बताते हुए खुद ही शराब दुकान खोल ली। वही अवैध शराब दुकान में शराबियों का जमावड़ा भी लगने लगा। इतना ही नही बेखौफ अवैध शराब दुकान मालिक न सिर्फ देशी बल्कि अंग्रेजी शराब का भी विक्रय कर रहा था। लेकिन इसी बीच ऑपरेशन प्रहार व नार्को हेल्पलाइन के अंतर्गत मुखबिर से मिली सूचना के आधार पर इंदौर क्राइम ब्रांच और राऊ पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए अवैध शराब के तस्कर और उसके अवैध अड्डे पर दबिश दे दी। इस दौरान शराब तस्कर सहित कुल 19 लोगो को मौके से गिरफ्तार किया गया और मौके से देशी और विदेशी शराब के साथ नगदी भी जब्त किए गए।

यह भी पढ़े…रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय में हुए दीक्षांत समारोह मे 20 से ज्यादा कोरोना पाज़िटिव मिलने के बाद हड़कंप

इंदौर में आया अवैध शराब दुकान संचालित करने का मामला, पियक्कड़ों सहित दुकान मालिक गिरफ्तार

हम आपको बता दें कि सरकार की शराब नीति को धता बताने वाली अवैध दुकान राऊ क्षेत्र में श्रमिक कॉलोनी नर्मदा रोड के पास संचालित की जा रही थी। जिसकी सूचना मिलने पर इन्दौर क्राइम ब्रांच की टीम और राऊ पुलिस द्वारा संयुक्त कार्रवाई को अंजाम दिया गया। मुखबिर द्वारा बताए गए हुलिये के आधार पर पुलिस टीम ने श्रमिक कॉलोनी नर्मदा रोड के पास पर से अवैध शराब की बिक्री करने वाले आरोपी को घेराबंदी कर पकड़ा। आरोपी का नाम बबलू मेर बताया जा रहा है। वही मौके पर तलाशी लेने पर करीब 44 लीटर देशी–विदेशी शराब मिली। जिसके संबंध में वैध लायसेंस पूछने पर मौके पर कोई भी कागज नही मिला। वही पुलिस ने आरोपी के कब्जे से लगभग 44 लीटर देशी–विदेशी शराब जिसकी कीमत 45 हजार रुपये से अधिक बताई जा रही है उसे जब्त किया इसके अलावा नगद 22,500 रुपये भी पुलिस ने जब्त किये है।

इंदौर में आया अवैध शराब दुकान संचालित करने का मामला, पियक्कड़ों सहित दुकान मालिक गिरफ्तार

यह भी पढ़े…West Bangal Train Accident : डोमोहानी रेलवे स्टेशन के पास गुवाहाटी-बीकानेर एक्सप्रेस हुई बेपटरी, 3 यात्रियों की मौत, कई घायल

वही संयुक्त टीम ने मौके पर अवैध रूप से अवैध शराब का सेवन करने वाले 18 आरोपियों को गिरफ्तार कर उनके खिलाफ कार्रवाई की है।डीसीपी क्राइम ब्रांच इंदौर निमेष अग्रवाल ने बताया कि इस कार्रवाई के बाद पूरा मामला राउ थाना पुलिस को सौंप दिया गया है।