इंदौर में थम रहा कोरोना का कहर, सरकारी आंकड़ों में घट रही मरीजों की संख्या

इंदौर, आकाश धोलपुरे। हॉट स्पॉट इंदौर में अब कोरोना का तांडव कमजोर होता जा रहा है। सरकारी आंकड़ों के दावों पर भरोसा करें तो इंदौर में अब बेड आक्यूपेंसी बढ़ गई है और पॉजिटिविटी दर भी कमजोर हो चली है।

दमोह: अनलॉक के पहले जीरो पॉजिटिविटी दर लाने के प्रयास जारी, बेवजह निकलने वालों को भेजा जा रहा जेल

गुरुवार रात को चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी किये गए मेडिकल बुलेटिन के बाद शहर को राहत मिली है। गुरुवार को इन्दौर में कुल 8910 लोगों के सैम्पल की जांच की गई थी जिनमें से 526 लोगों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। वहीं मेडिकल बुलेटिन के हिसाब से 4 लोगो की मौत बीते 24 घण्टों के दौरान कोरोना से हुई है। इसके बाद अब कोरोना के कारण जान गंवाने वालों की संख्या 1331 तक जा पहुंची है। वहीं वर्तमान में 5974 लोगो का इलाज होम आइसोलेशन, हॉस्पिटल और कोविड केयर सेंटर के माध्यम से जारी है। इधर, गुरुवार को शहर में 1710 मरीजों ने कोरोना को मात दी है और अब वो स्वस्थ हैं।

कोविड-19 इंदौर के नोडल अधिकारी डॉ.अमित मालाकार ने बताया कि शहर में कोरोना की रफ्तार धीमी पड़ गई है। जहां शहर का कुल क्यूमिलिटिव पॉजिटिविटी रेट 10.3 प्रतिशत है और पिछले 24 घण्टे में पॉजिटिविटी रेट 5.9% रहा। उन्होंने बताया कि रिकवरी रेट का ग्राफ बढ़ रहा है जो इंदौर के लिए एक सुखद संदेश है। वहीं हॉस्पिटल में पर्याप्त संख्या में बेड उपलब्ध है और इंदौर में धीरे धीरे बेड आक्यूपेंसी बढ़ रही है। फिलहाल, इंदौर में एक बार फिर कोरोना का ग्राफ नीचे जा रहा है बावजूद इसके प्रशासन और चिकित्सा विभाग लोगों से कोरोना नियमों का पालन करने की अपील कर रहा है ताकि संक्रमण की चैन को तोड़ा जा सके।