कमलनाथ पर बरसे वन मंत्री विजय शाह, तो ममता पर साधा निशाना

मध्य प्रदेश में बंद पड़े सभी नेशनल पार्क को 1 जून से 30 जून तक के लिए खोला जाएगा। ये घोषणा वन मंत्री विजय शाह ने इंदौर में की है।

इंदौर, आकाश धोलपुरे। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में कोरोना (Corona) की दूसरी लहर के बाद से ही बंद पड़े सभी नेशनल पार्क को 1 जून से 30 जून तक के लिए खोला जाएगा। ये घोषणा वन मंत्री विजय शाह ( Forest Minister Vijay Shah ) ने इंदौर (Indore) में की है। उन्होंने मीडिया से बातचीत कर बताया कि कोविड-19 (COVID-19) की गाइडलाइन (Guideline) का पालन कर लोग राष्ट्रीय उद्यानों में घूमने जा सकेंगे। वही उन्होंने इंदौर में कहा कि अब हम बाघ के बच्चो की गिनती नही करते थे। लेकिन इस बार वीडियोग्राफी के जरिये गिनती कराई गई है। जिसके बाद कहा जा सकता है प्रदेश एक बार फिर टाइगर स्टेट की श्रेणी में आगे है।

यह भी पढ़ें…दमोह में 1 जून से नहीं होगा अनलॉक, एक हफ्ते बढ़ा लॉकडाउन

विजय शाह ने कमलनाथ के लिए कही ये बात
वही पूर्व सीएम कमलनाथ (Kamal Nath) के हालिया बयानों को लेकर वन मंत्री ने कहा कमलनाथ जी वरिष्ठ और अनुभवी नेता है। वो बड़े-बड़े डिपार्टमेंट के मंत्री रहे हैं और मुख्यमंत्री भी रहे है। इसलिए उनकी बुद्धि पर शक करना ठीक नहीं है। हालांकि वन मंत्री ने पूर्व सीएम पर तंज कसते हुए ये भी कहा कि कुछ दिन पहले वो कह रहे थे कि वो किसी मरे हुए आदमी से मिले और उसने बताया कि वो कोरोना में कैसे मरा। जो व्यक्ति यहां से शुरुआत करे उसके बारे में बोलना ठीक नहीं है। वनमंत्री ने कहा कि पूर्व सीएम ने दावा किया था कि हमारे पास सीडी है। इस पर हमारे सीएम और गृहमंत्री ने कहा कि कोई चीज है अगर तो आपने छिपाई है उसको आप दीजिये हम कार्रवाई करेंगे। वही उन्होने कहा कि एसआईटी की टीम 2 तारीख को जा रही है। ताकि पता चल सके कि कोई ऐसी चीज उस समय के सीएम ने पद पर रहते हुए छिपाई है जो जनता के हित की थी तो उन पर छिपाने के मामले में मुकदमा चलना चाहिए। हमें तो कोई डर नहीं है। दूध का दूध और पानी का पानी होना चाहिए। वही इंडियन कोविड वेरिएंट के बयान को लेकर उन्होंने कहा कि बहुत से लोग कोरोना के नाम पर देश और पीएम को बदनाम करने की कोशिश में लगे हुए है। जो समाज के कई हिस्सों में हो सकते है उनसे हमे सतर्क रहना चाहिए। हमारे देश के पीएम, देश को आगे ले जा रहे है ये किसी से छिपा नहीं है।

इधर, वन मंत्री ने कहा टीका ही एकमात्र जरिया है जिससे कोरोना से बचा जा सकता है। वहीं मौतों के आंकड़े छिपाने का सवाल ही नहीं उठता है। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी (PM Modi) की सरकार कोरोना के चलते बेघर हुए लोगो को 10 लाख की सहायता दे रही है। प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) द्वारा अनाथ हुए बच्चों को 5 हजार रुपये मासिक पेंशन देगी। ऐसा इतिहास भी कभी नहीं हुआ है कि कोई सरकार, महामारी के दौर ऐसे कदम उठा रही है। और ऐसी संवेदनशील सरकार और प्रधानमंत्री पाकर हम दिल से गौरन्वित है। साथ ही पश्चिम बंगाल (West Bengal) में आपदा प्रबंधन की बैठक पर मचे बवाल को लेकर वन मंत्री ने कहा कि अभी हाल ही में जिस तरह से ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने प्रधानमंत्री की गरिमा को ठेस पहुंचाई है। हमने हमारे जीवन में ऐसा दुर्भाग्यशाली दिन नहीं देखा है। ऐसे प्रदेश के मुख्य सचिव को 24 घण्टे के अंदर सस्पेंड कर देना चाहिए जो हमारे प्रधानमंत्री की गरिमा को खंडित करना चाहते है । क्योंकि सीएम तो दलगत राजनीति के कारण ऐसा कर सकता है।

मंत्री विजय शाह ने इंदौर में कहा कि कोरोना काल मे वृक्षारोपण को लेकर 6 जून को समीक्षा की जाएगी। वही उन्होंने बताया कि हमारी पूरी टीम कोरोना काल मे लगी है। अकेले वन विभाग ही नहीं बल्कि सभी विभागों के टीम कोरोना से निपटने में लगी हुई है। वही उन्होंने ये माना कि प्रदेश में करीब वन विभाग के 700 से 800 कर्मचारियों की कोरोना के कारण जान चली गई है। जिनके परिवार का ध्यान भी सरकार रखेगी। साथ ही अस्थायी, संविदा और कलेक्टर रेट पर काम करने वाले कर्मचारी के परिजनो को अनुकम्पा नियुक्ति देगी। वहीं छोटे रोजगार के लिए 5 लाख की सहायता दी जा रही है। उन्होंने कहा कि कोरोना से हर विभाग प्रभावित हुआ है उसमें वन विभाग भी है।

यह भी पढ़ें…20 पेटी अवैध शराब जब्त, बाइक चोर और 5 जुआरी गिरफ्तार, कोतवाली पुलिस की कार्रवाई