इंदौर: पति की कोरोना से हुई मौत तो पत्नी ने हॉस्पिटल की 9 वीं मंजिल से कूद कर दी जान

महिला का पति कोरोना पाजीटिव (corona positive) था और इलाज हॉस्पिटल में चल रहा था और इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई थी जिसके चलते पत्नि ने हॉस्पिटल की 9 वीं मंजिल से कूद कर अपनी जान दे दी।

इंदौर, आकाश धोलपुरे। इंदौर (indore) के तुकोगंज थाना क्षेत्र के शैल्बी हॉस्पिटल से एक महिला ने कूदकर आत्महत्या (suicide) कर ली है। बताया जा रहा है कि महिला का पति कोरोना पाजीटिव (corona positive) था और इलाज हॉस्पिटल में चल रहा था और इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई थी जिसके चलते पत्नि ने हॉस्पिटल की 9 वीं मंजिल से कूद कर अपनी जान दे दी। वही तुकोगंज पुलिस ने मौके पर पहुंच कर आत्महत्या का मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है।

यह भी पढ़ें… जेपी नड्डा से मिलेंगे जयंत मलैया, बताएंगे दमोह उपचुनाव में हार के कारण

बता दें कि कनाड़िया क्षेत्र में रहने वाले राहुल जैन कुछ दिनों पहले कोरोना संक्रमण का शिकार हो गए थे जिनको निजी हॉस्पिटल में इलाज के लिए भर्ती किया गया था जहां इलाज के दौरान राहुल जैन की मौत हो गयी। वहीं राहुल जैन की पत्नी खुशबू जैन भी पति राहुल के साथ हॉस्पिटल में मौजूद थी। जैसे ही खुशबू के पति राहुल जैन की कोरोना से मौत हुई वैसे ही पत्नि खुशबू ने हॉस्पिटल की 9 वी मंजिल से कूद कर जीवन लीला समाप्त कर ली। तुकोगंज पुलिस के जांच अधिकारी डीडी बघेल सुसाइड मामले में बताया कि पति के वियोग के चलते पत्नि ने खुदकुशी कर ली जिसके बाद पुलिस जांच में जुट गई है।

यह भी पढ़ें… अस्पताल से ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर चुराने की कोशिश, मरीज की मौत, मृत्यु पूर्व रिकॉर्ड किया बयान

उल्लेखनीय है कि 15 दिन पहले इंदौर के ही एक निजी अस्पताल में प्रोफेसर पति की कोरोना से मौत होने के बाद उनकी प्रोफेसर पत्नि ने भी राजेंद्र नगर थाना क्षेत्र में स्थित अपने घर पर आत्महत्या कर ली थी। ऐसे में सवाल ये उठ रहे है कि शिक्षित वर्ग के लोग आपदा के दौर में ऐसे कदम क्यो उठा रहे है और क्या इस तरह से जिंदगी को मौत के द्वार तक ले जाना उचित है।