Indore: अनलॉक साइड इफेक्ट्स -अब बदमाशो ने उड़ाया तहसीलदार का मोबाइल फोन, उठे कई सवाल

इस घटना के सामने आने के बाद ये तो साफ हो रहा है कि ये कोरोना के लॉक डाउन के साइड इफेक्ट्स है जो अब धीरे धीरे कर सामने आ रहे है

indore

इंदौर, आकाश धोलपुरे। इंदौर (indore) में कई जगह लॉकडाउन (lockdown) के साइड इफेक्ट्स (side effects) अब सामने आ रहे हैं। दरअसल, बढ़ती महंगाई और बेरोजगारी (unemployment) का ही असर है कि अब आम लोग भी अपराध (crime) की दुनिया में कदम रख रहे है क्योंकि आब लोग ‘मरता क्या न करता’ की तर्ज पर बिना सोचे -समझे आपराधिक वारदातो को अंजाम दे रहे हैं।

यह भी पढ़ें… Milkha की जश्न-ए-जिंदगी, निधन के बाद तेजी से Viral हो रहा ये Video

इंदौर में शनिवार रात को एक ऐसा ही मामला सामने आया है। यहां इंदौर एसपी के बंगले के बाहर से तलसीदार का मोबाइल बदमाश लूटकर भाग निकले। दरअसल, छत्रीपुरा क्षेत्र में हुई घटना में तहसीलदार रणजीत सिंह हुड्डा को आकर पंचनामा बनाना था लेकिन इसी दौरान बदमाश उनका मोबाइल लूटकर ले भागे जिसके बाद दूसरे तहसीलदार को मौके पर जाकर पंचनामा बनाना पड़ा।

पूरी घटना इंदौर संयोगितागंज थाना क्षेत्र के रेसीडेंसी इलाके में एसपी युसुफ कुरैशी के बंगले के बाहर हुई है जहां तलसीलदार चरणजीत सिंह हुड्डा का मोबाइल लूटकर बाइक सवार बदमाश भाग निकले। जिस वक्त ये घटना हुई उस वक्त तहसीलदार चरणजीत सिंह फोन पर बात कर रहे थे। तभी अचानक बाइक सवार अज्ञात बदमाश आये और मोबाइल छीनकर भाग निकले। बता दें कि रेसीडेंसी क्षेत्र में तमाम बड़े अधिकारी रहते है। ऐसे में इस क्षेत्र में हुई घटना कई सवाल खड़े कर रही है।

यह भी पढ़ें… एक बार फिर सुर्खियों में Poonam Pandey, भारत- न्यूजीलैंड के मैच पर बोलीं- ” मैं फिर स्ट्रिप होने की बात कहूं?”

जिन तहसीलदार चरणजीत सिंह के साथ यह घटना हुई है उन्हें छत्रीपुरा क्षेत्र में प्रेमी द्वारा प्रेमिका को गोली मारने वाली घटनास्थल पर जाकर पंचनामा तैयार करवाना था। इस दौरान अन्य अधिकारी लगातार उन्हें फोन लगा रहे थे और उनका नम्बर बंद आ रहा था तब मौके पर दूसरे तहसीलदार को बुलाया गया तो पता चला कि तहसीलदार का मोबाइल बदमाश लूटकर ले गए हैं।

फिलहाल, इस घटना के सामने आने के बाद ये तो साफ हो रहा है कि ये कोरोना के लॉक डाउन के साइड इफेक्ट्स है जो अब धीरे धीरे कर सामने आ रहे है। ये ही वजह है कि इन दिनों इंदौर में अपराध बढ़ते ही जा रहे है जिस पर लगाम कसना पुलिस के लिए बड़ी चुनौती बनता जा रहा है।