MP Politics: कसम पर बवाल, BJP ने लगाएं आरोप, कांग्रेस का पलटवार, वीडियो वायरल

बीजेपी प्रवक्ता ने साफ किया कि कांग्रेस से जुड़े मुस्लिम नेताओं को इस बात का जबाव कांग्रेस से मांगना चाहिए।

MP Politics

इंदौर, आकाश धोलपुरे। मध्यप्रदेश में नगरीय निकाय चुनाव नजदीक है ऐसे में राजनीतिक दलों की तैयारियां भी जारी है। जहां बीजेपी ने हाल ही इंदौर में संगठन का एक बड़ा कार्यक्रम आयोजित कर कार्यकर्ताओ को विशेष दिशा निर्देश देकर निकाय से लेकर लोकसभा चुनाव तक कि तैयारी करने के निर्देश दिए तो दूसरी ओर कांग्रेस का फिलहाल फोकस निकाय चुनाव को लेकर है।

निकाय चुनाव की तैयारियों के चलते कांग्रेस अलग अलग वार्डो में जाकर ने कार्यकर्ताओं और मतदाताओं का मन टटोल रही है। इसी के चलते कांग्रेस के संभावित महापौर पद के प्रत्याशी संजय शुक्ला और शहर कांग्रेस अध्यक्ष विनय बाकलीवाल तैयारियों के लिहाज से जुटे है।

इधर, कांग्रेस द्वारा अलग अलग क्षेत्रो में जाकर लोगो से मुलाकात दौर जारी इसी बीच के एक वायरल वीडियो के सामने आने के बाद भाजपा, कांग्रेस पर हमलावर हो चुकी है। दरअसल, कथित वायरल वीडियो में शहर कांग्रेस अध्यक्ष विनय बाकलीवाल चंदन नगर क्षेत्र में मुस्लिमजनों को कुरान की कसम खिलाकर कांग्रेस का साथ देने की शपथ दिलाई गई। जब ये वीडियो वायरल हुआ तो बीजेपी ने कड़ी आपत्ति लेते हुए कांग्रेस के रवैये पर आपत्ति लेकर कांग्रेस को सीख दे डाली।

Read More: Jabalpur News: महिला ने घर के भीतर जमीन में गाड़ रखी थी शराब, पुलिस ने किया पर्दाफाश

इस मामले पर बीजेपी प्रदेश प्रवक्ता उमेश शर्मा ने सवाल उठाए की कुरान की कसम क्यों दिलाई गई क्या कांग्रेस पार्टी से जुड़ा मुसलमान गद्दार है। इतना ही नही उन्होंने कहा कि विनय बाकलीवाल जैन समाज मे भगवान अरिहंत की कसम और संजय शुक्ला भगवान परशुराम की कसम क्यों नही दिलाते। बीजेपी प्रवक्ता ने साफ किया कि कांग्रेस से जुड़े मुस्लिम नेताओं को इस बात का जबाव कांग्रेस से मांगना चाहिए।

इधर, वायरल वीडियो के मामले ने जब तूल पकड़ा तो बैकफुट पर आई कांग्रेस ने एक नया शिगूफा छेड़ा और शहर कांग्रेस अध्यक्ष विनय बाकलीवाल ने तो वीडियो की हकीकत पर सवाल उठा दिए और कहा कि वीडियो को एडिट कर इस तरह से बनाया गया है और अब वायरल वीडियो से छेड़छाड़ मामले में पुलिस की शरण लेंगे। फिलहाल, क्या सही है और क्या गलत है ये तो सियासी सवाल है लेकिन वायरल वीडियो के सामने आने के बाद इंदौर में निकाय चुनाव की राजनीति चरम पर है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here