इंदौर का राधा स्वामी सत्संग परिसर बन रहा कोविड केयर सेंटर, 500 मरीज को किया जा सकेगा आइसोलेट

इंदौर के खंडवा रोड़ स्थित राधा स्वामी सत्संग व्यास (Radha Soami Satsang Beas) को कोविड केयर सेंटर में तब्दील करने का निर्णय लिया है। जहां करीब 500 मरीज को आइसोलेट करने की व्यवस्था रहेगी।

इंदौर, आकाश धोलपुरे। इंदौर (Indore) में कोरोना जितनी तेजी से फैल रहा है उतनी ही तेजी से अब प्रशासन द्वारा युद्ध स्तर पर व्यवस्थाएं जुटाना शुरू कर दी गई है। दरअसल, सोमवार को इंदौर में 1552 नए कोरोना पॉजिटिव मरीज (Corona positive patient) सामने आए है जिसके बाद प्रशासन ने इंदौर के खंडवा रोड़ स्थित राधा स्वामी सत्संग व्यास (Radha Soami Satsang Beas) को कोविड केयर सेंटर में तब्दील करने का निर्णय लिया है। जहां करीब 500 मरीज को आइसोलेट करने की व्यवस्था रहेगी।

यह भी पढ़ें….बैतूल में यातायात पुलिस की कार्यवाही, बेवजह सड़कों पर घूम रहे लोगों का काटा चालान

एसिम्प्टोमेटिक मरीजों के इलाज की मिलेगी सुविधा
इंदौर में बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग ने धार रोड़ स्थित सिंहासा के कोविड केयर सेंटर (Covid Care Center) को शुरू करने के बाद एक और कोविड केयर सेंटर बनाए जाने की तैयारी शुरू कर दी है। इसके लिए खंडवा रोड स्थित राधा स्वामी सत्संग व्यास के विशाल मैदान में कोविड केयर सेंटर के निर्माण की तैयारी की जा रही है। अगले दो दिन में इसे तैयार करने का प्रयास जारी है। बता दे कि पहले चरण में यहां 500 बेड दूसरे चरण में 1 हज़ार और आवश्यकता पड़ने पर 2 हजार बेड की व्यवस्था भी जा सकती है।

मंगलवार को चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी परिसर का निरीक्षण करने पहुंचे और यहां कोविड के नोडल अधिकारी डॉक्टर अमित मालाकार ने बताया कि पहले चरण में परिसर में 500 बेड तैयार किये जा रहे है और हर 50 बेड के ब्लॉक में एक डॉक्टर, 3 स्टॉफ नर्स और एक सहयोगी स्टाफ राउंड द क्लॉक ड्यूटी देगा। उन्होंने बताया कि जिन एसिम्प्टोमेटिक (Asymptomatic) मरीजो के यहां आइसोलेट होने की सुविधा नही रहेगी उन्हें यहां आइसोलेट किया जाएगा। जिनके खाने, पीने सहित चिकित्सकीय सुविधाएं निशुल्क रहेगी।

फिलहाल, इंदौर में हैरान कर देने वाले आंकड़ो के सामने आने के बाद प्रशासन न सिर्फ ए सिम्प्टोमेटिक मरीजो के लिए व्यवस्था करने में जुटा है बल्कि प्रशासन द्वारा गम्भीर मरीजो के इलाज के लिए वैकल्पिक तौर पर पुख्ता प्रबंध करने के प्रयास किये जा रहे है।

यह भी पढ़ें….15 अप्रैल से महाराष्ट्र में लग सकता है लॉकडाउन, आज जनता को संबोधित करेंगे सीएम