कर्फ्यू के बावजूद इंदौर में हालात गंभीर, मंत्री बोले- 25-30 क्षेत्रों में बनाएं माइक्रो कंटेनमेंट जाेन

मंत्री  सिलावट ने साफ निर्देश दिये कि रेमडेसिवीर इंजेक्शन (Remdesiveer Injection) की कालाबाजारी करने वालों के विरूद्ध रासुका की कार्रवाई की जाये।

इंदौर, आकाश धोलपुरे। इंदौर (Indore) में सक्रिय कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 13 हजार के पार पहुंच गया है। पिछले 24 घंटे में 1800 से ज्यादा नए केस सामने आए है, ऐसे में जल संसाधन मंत्री और इंदौर के प्रभारी मंत्री  तुलसी सिलावट (Tulsi Silavat) ने निर्देश दिये कि ग्रामीण क्षेत्रों में कोविड मरीज पाये जाने पर उन्हें तत्काल कोविड केयर सेंटर में भर्ती किया जाये।  वर्तमान में शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में 46 माइक्रो कंटेनमेंट झोन बनाये गये है, इसके अतिरिक्त लगभग 25-30 क्षेत्रों को चिन्हित कर उन्हें भी माइक्रो कंटेनमेंट झोन बनाये जाने की कार्यवाही कर सख्ती से पालन कराया जाये।

यह भी पढ़े.. इंदौर: पूजा हत्याकांड में नया खुलासा, देवर ने ही उतारा था भाभी को मौत के घाट

दरअसल, आज  रेसीडेंसी कोठी इंदौर में आयोजित आज एक महत्वपूर्ण बैठक में इंदौर के प्रभारी मंत्री  तुलसी सिलावट ने प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ इंदौर में कोरोना की वर्तमान स्थितियों की समीक्षा की। इसमें ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना के उपचार और शहरी क्षेत्र में माइक्रो कंटेंनमेंट ज़ोन के संबंध में विशेष तौर पर चर्चा हुई। एक मई से प्रारंभ हो रहे वैक्सीनेशन अभियान को सफल बनाने पर भी चर्चा की गई।

तुलसी सिलावट ने जनता कर्फ्यू (Janta Curfew) का सख्ती से पालन कराने के भी निर्देश दिये। साथ ही उल्लंघन करने पर दण्ड स्वरूप सांकेतिक रूप से अस्थाई जेल भेजने के भी निर्देश दिये, ताकि जनता कर्फ्यू का सख्ती से पालन किया जा सके। इस हेतु जनता कर्फ्यू के दौरान पुलिस फोर्स के सहयोग के लिये फॉरेस्ट गार्ड, होम गार्ड, नगर सुरक्षा समिति, एनसीसी कॅडेट की सेवाऐं लेने के भी निर्देश दिये गये ताकि बल की कमी न हो सके।

यह भी पढ़े.. शादी में 10 से ज्यादा को अनुमति नहीं, सीएम शिवराज सिंह बोले-कर्फ्यू का कड़ाई से पालन हो

मंत्री  सिलावट ने साफ निर्देश दिये कि रेमडेसिवीर इंजेक्शन (Remdesiveer Injection) की कालाबाजारी करने वालों के विरूद्ध रासुका की कार्रवाई की जाये। उन्होंने इंदौर कलेक्टर (Indore Collector) मनीष सिंह को ऑक्सीजन ऑडिट एवं स्टेप डाउन की समुचित व्यवस्था करने एवं निगरानी रखने के निर्देश दिये। अस्पतालों के बाहर मरीजों के परिजनों के लिये टेंट लगाकर, बैठने एवं पानी इत्यादि की समुचित व्यवस्था की जाये।वही वैक्सीनेशन (Vaccination) अभियान को शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में प्रभावी रूप से संचालित करने के निर्देश भी दिये।

मंत्री  सिलावट ने बैठक में कहा कि होम आइसोलेशन की समुचित व्यवस्था की समीक्षा प्रतिदिन मेरे द्वारा कंट्रोल सेंटर पर जाकर की जा रही है तथा प्रतिदिन 25-30 मरीजों से मेरे द्वारा वीडियो कालिंग पर चर्चा भी की जा रही है। उनकी कठिनाईयों एवं परेशानियों को तुरंत हल करने तथा होम आइसोलेशन में मरीजों का मनोबल बढाने के लिए प्रतिदिन 2 बार फोन पर बात करने के निर्देश भी मेडीकल टीम को दिये गये।