टीआई हाकम सिंह सुसाइड मामला : एएसआई रंजना खांडे के भाई और एकमात्र चश्मदीद की मौत

इंदौर, डेस्क रिपोर्ट। इंदौर में टीआई सुसाइड मामले में अब और एक नया मोड़ आ गया है, टीआई हाकम सिंह के सुसाइड मामलें में चश्मदीद और ASI रंजना खांडे के भाई कमलेश खांडे की गुरुवार रात मौत हो गई। उसे आग से झुलसने के बाद गंभीर हालत में इंदौर के एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया था। हालांकि कमलेश के घरवालों का कहना है कि स्टोव में आग भभकने से वह उसकी चपेट में आ गया लेकिन प्राथमिक जांच में यह आत्मदाह का मामला बताया जा रहा है, गौरतलब है कि कमलेश घटना का एकमात्र चश्मदीद था। वह धामनोद में झुलस गया था।

यह भी पढ़ें…. कर्मचारियों को बड़ा तोहफा, DA में वृद्धि, बढ़कर हुआ 32.5 फीसद, वित्त मंत्रालय ने जारी किया आदेश, जुलाई के वेतन में मिलेगा लाभ

टीआई हाकम सिंह सुसाइड केस में एकमात्र चश्मदीद था कमलेश खांडे
इंदौर पुलिस कंट्रोल रूम में 24 जून को टीआई हाकम सिंह ने एएसआई रंजना खांडे को गोली मारने के बाद खुद को गोली मार ली थी, इस घटना में रंजना बच गई थी वही टीआई हाकम सिंह की मौके पर ही मौत हो गई थी, इस घटना के बाद इसे पुलिस अधिकारियों ने रंजना और हाकम सिंह के बीच प्रेम संबंधों के चलते हुआ विवाद बताया था, घटना से कुछ देर पहले पुलिस कंट्रोल रूम में ही रंजना और उसके भाई ने टीआई हाकम सिंह से रेस्टोरेंट में मुलाकात की थी जिसके बाद बाहर आकर कंट्रोल रूम परिसर में टीआई हाकम सिंह ने गोली चला दी थी, इस घटना का एकमात्र चश्मदीद एएसआई रंजना का भाई कमलेश था लेकिन मंगलवार रात अचानक उसके जल जाने की खबर आई, और गुरुवार रात उसने दम तोड़ दिया, कमलेश की मौत से इस मामले में नया मोड़ आ गया है, अब पुलिस की शक की सुई एएसआई रंजना की तरफ और गहरी हो गई है, हालांकि रंजना ने टीआई हाकम सिंह के साथ क्रेटा गाड़ी के पैसों का लेनदेन का विवाद बताया था लेकिन टीआई हाकम सिंह के परिजनों के अनुसार रंजना टीआई हाकम सिंह को ब्लैक्मैल कर रही थी। टीआई सुसाइड केस में कमलेश खांडे एक मात्र चश्मदीद था। उस दौरान पुलिस ने कमलेश को पूछताछ के बाद छोड़ दिया था।