जबलपुर में सूदखोरों के खिलाफ चला प्रशासन का बुल्डोजर, शासकीय भूमि कराई मुक्त

पनागर में मुख्य मार्ग पर अवैध रूप से कब्जा कर बनाए गए मकान को ढहा दिया गया।

जबलपुर, संदीप कुमार। जबलपुर में सूदखोरों के विरुद्ध प्रशासन द्वारा लगातार कार्रवाई की जा रही है। आज ऐसे ही एक सूदखोर के खिलाफ बुधवार को प्रशासन द्वारा कार्रवाई करते हुए पनागर में मुख्य मार्ग पर अवैध रूप से कब्जा कर बनाए गए मकान को ढहा दिया गया।

यह भी पढ़े…खरमास 2021 : गुरुवार से एक महीने तक वर्जित हो जायेंगे शुभ काम, रखना होगा ध्यान

हम आपको बता दें कि कलेक्टर कर्मवीर शर्मा द्वारा दिए गए निर्देशानुसार बुधवार को पनागर के जगमोहन वार्ड में सूदखोर पप्पू राय उर्फ संतान राय के विरुद्ध एसडीएम जबलपुर पीके सेनगुप्ता के नेतृत्व में राजस्व विभाग, पुलिस एवं नगर पालिका परिषद ने संयुक्त कार्रवाई की। सूदखोर पप्पू राय उर्फ संतान राय द्वारा जगमोहन वार्ड में मेन रोड से लगी सरकारी जमीन पर अतिक्रमण कर बनाए गए मकान को बुल्डोजर से जमींदोज किया गया।

यह भी पढ़े…गुरु बदलेगा 2022 में इन राशियों की किस्मत, शादी-नौकरी के खुलेंगे अवसर, धन की वर्षा

दरअसल, एसडीएम जबलपुर ने बताया कि पप्पू राय के कब्जे से मुक्त कराई गई इस शासकीय भूमि का बाजार मूल्य भी लगभग 25 लाख रुपये है, गौरतलब ज्ञात हो कि कल मंगलवार को पप्पू राय की पनागर के जगमोहन वार्ड में मेनरोड से लगी करीब 200 वर्गफुट शासकीय भूमि पर अवैध कब्जा कर बनाई गई चाय-पान की होटल को प्रशासन द्वारा ध्वस्त किया गया था।

यह भी पढ़े…सरकारी नौकरी पाने का सुनहरा मौका, यहां निकली है 400 से ज्यादा पदों पर भर्ती, जल्द करें अप्लाई

सहारा चिटफंड पर कार्रवाई कब

जबलपुर जिला प्रशासन लगातार सूदखोरों के खिलाफ कार्यवाही भले ही कर रहा हो पर चिटफंड कंपनियों के खिलाफ प्रशासन की नजर नहीं है, सहारा पैराबैंकिंग कंपनी करोड़ों रुपए डकार चुकी हैं बावजूद इसके अभी तक कंपनी के नुमाइंदों पर प्रशासन ने कार्यवाही नहीं की है, ऐसे में सवाल उठता है कि आखिर प्रशासन का यह दोहरा चेहरा क्यों सामने आ रहा है।