चोरी के मोबाईल से OLX पर फ्रॉड करने वाले आरोपी गिरफ्तार, राजस्थान से जबलपुर पुलिस ने दबोचा

जबलपुर, डेस्क रिपोर्ट। जबलपुर पुलिस ने ऐसे शातिर गिरोह के सदस्य को पकड़ा है, जो ओएलएक्स पर सामान खरीदने के नाम पर धोखाधड़ी करते थे, यह गिरोह समान का सौदा कर खरीदार को वाट्सअप पर क्यूआर कोड भेज एकाउंट से पैसे उड़ा लेते थे ऐसे ही इस गिरोह ने शहर के एक शख्स के अकाउंट से 1 लाख 96 हजार 474 रूपए पार कर दिए थे, राशि उड़ा लेने के मामले में जबलपुर पुलिस ने गिरोह के एक सदस्य को भरतपुर राजस्थान में दबोच लिया।

यह भी पढ़ें… जबलपुर : थाने के अंदर रिश्वत लेते लोकायुक्त ने एसआई को पकड़ा

थाना ओमती में 21 अगस्त को कु. याशिका जोशी उम्र 26 वर्ष निवासी नेपियर टाऊन नवीन विद्या भवन ने लिखित शिकायत की थी कि वह स्कूल टीचर है। नदंनी चित्राणी जो शांति नगर में रहती है। उनको 2 साल से जानती है गूगल पे उनके पास नहीं होने के कारण कभी- कभी उनका पैसा उसके अकाउन्ट में आ जाता था और वह उनको कैश पे कर देती थी। 20 अगस्त को दोपहर 12-30 बजे नंदनी चित्राणी ने उसे फोन करके कहा कि वह अपनी वाशिंग मशीन ओएलएक्स पर बेच रही है। सामने वाला व्यक्ति अगर पैसा भेजता है, तो आप मुझे बताकर पैसा ले लीजियेगा। दोपहर लगभग 2 बजे मोबाइल पर व्हाएसएप पर मेसेज आने लगे। जिसमें सामने वाले व्यक्ति ने क्यू आर व्हाटसएप किया तथा एक अन्य नम्बर से भी कॉल किया और कुछ पैसे ट्रांसफर करवाए। उसने क्यूआर कोड पर लिंक भेजकर धोखाधड़ी करके उसके खाते से 1 लाख 96 हजार 476 रूपये निकाल लिये। शिकायत पर अज्ञात आरोपी के विरूद्ध धारा 420 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

यह भी पढ़ें… मध्य प्रदेश को PM का तोहफा, धनतेरस पर साढ़े चार लाख लोगों को मिलेगा नया घर

विवेचना के दौरान ग्राम सहसन जिला भरतपुर राजस्थान के पंजाब नेशनल बैंक में राशि का ट्रांसफर होना पाये जाने पर थाना ओमती में पदस्थ सहायक उप निरीक्षक नरेश सिंह, प्रधान आरक्षक रमाकांत तिवारी, सायबर सेल के आरक्षक कृष्णचंद्र तिवारी, की एक टीम रवाना की गयी। वहीं पुलिस अधीक्षक जबलपुर सिद्धार्थ बहुगुणा ने जिला भरतपुर के वरिष्ठ अधिकारियों से घटित हुई घटना के सम्बंध में चर्चा कर अवगत कराया। स्थानीय पुलिस की मदद से टीम के द्वारा बैंक में पतासाजी की गयी तो जिस एकाउंट में राशि ट्रांसफर हुई थी। वह एकाउंट ग्राम सहसन निवासी वाजिद खान का होना पाया गया। साथ ही यह भी जानकारी लगी कि वाजिद खान के द्वारा 50 हजार रूपये की राशि ग्राम सहसन निवासी जावेद के नाम पर पीएनबी बेैंक सहसन में ट्रांसफर की गयी है। टीम के द्वारा स्थानीय पुलिस की मदद से जावेद पिता फजलू खान उम्र 24 वर्ष निवासी सहसन जिला भरतपुर राजस्थान को पकड़ा गया। वाजिद घर पर नहीं मिला। जावेद खान को प्रकरण में विधिवत गिरफ्तार कर न्यायालय के समक्ष पेश करते हुए पूछताछ हेुत दिनॉक 19-10-2022 के लिये पुलिस रिमाण्ड पर लिया गया है। फरार जावेद की तलाश जारी है।

ऐसे देते थे वारदात को अंजाम

फर्जी सिम व चोरी के मोबाईलों से ओएलएक्स साइट पर किसी भी सामग्री का सस्ते दामों पर बेचने-खरीदने का विज्ञापन डालते है। कस्टमर का मैसेज आने पर सामग्री की कीमत के लिए व्हाटसप चैट करते है। चैट में फर्जी बिल आदि भेजकर तथा विश्वास में लेकर राशि फोन पे, पेटी एम, गूगल पे आदि द्वारा अपने फर्जी खातों में डलवाते है। उसके बाद फोन को बंद कर देते है और सिम बदल लेते है।