कोरोना संकट : सोशल मीडिया पर मदद मांगना प्रशासन को पड़ा भारी, लोग बोले- ‘और कितना लूटोगे’

कोरोना संकट में जबलपुर प्रशासन को सोशल मीडिया पर जनता से मदद मांगना भारी पड़ गया। प्रशासन के इस पोस्ट पर लोग खूब कमेंट्स कर रहे हैं।

जबलपुर, संदीप कुमार। कोरोना संकट में जबलपुर प्रशासन द्वारा आम जनता से मदद मांगी जा रही है। इसी कड़ी में सोशल मीडिया (Social Media) पर जिला प्रशासन की मदद मांगने की ये तरकीब उल्टी पड़ गई है। प्रशासन द्वारा सोशल मीडिया पर कोरोना मदद के लिए डाली गई पोस्ट पर लोगों के कमेंट्स ने प्रशासन की धज्जियां उड़ा दी है।

यह भी पढ़ें:-लापता है बीजेपी सांसद राकेश सिंह, तलाश कर लाने वाले को मिलेगा इनाम: कांग्रेस

दरअसल जबलपुर प्रशासन ने कोरोना संकट में मदद के लिए फेसबुक पेज के माध्यम से आम जनता से मदद मांगी है, जिससे जितना बनता है वो रेड क्रोस सोसायटी में मदद के लिए रकम जमा कर सकता है। जिला प्रशासन के इस अनुरोध का जबलपुर की जनता खूब कॉमेंट्स दे रही है। कुछ लोग बोल रहे है कि पैसे देने से भी जीवन नही बच रहा है, बहुत देर से नींद खुली है। कुछ कह रहे है कि कोरोना बताकर जो सर्दी जुखाम के इलाज के नाम पर 5 लाख से 25 लाख रु तक वसूल कर रहे है पहले उनकी जांच करो। एक ने तो यहां तक लिख दिया कि सड़क पर रोको-टोको अभियान के नाम पर वैसे ही आम जनता को लूट रहे हो और कितना चंदा चाहिए।

जनता में प्रशासन को लेकर नाराजगी
‘कोविड-19 की रोकथाम में कीजिए शासन का सहयोग’ स्लोगन को अपना कर जिला प्रशासन ने फेसबुक के माध्यम से अपील की है कि कोरोना संक्रमण से आम जनता को बचाने और राहत पहुचाने के कार्य मे आप भी अपना योगदान दे। इस योगदान के लिए रेड क्रॉस सोयायटी का खाता भी पब्लिश किया गया है। जिस तरह के कमेंट्स जनता के द्वारा दिए जा रहे है उसको देखकर कहा जा सकता है कि जनता शासन प्रशासन से खुश नहीं है।