Jabalpur News : नहीं खुले बरगी बांध के पांच गेट, जारी हुआ था अलर्ट, अधिकारियों ने बताई ये वजह

Atul Saxena
Updated on -

Jabalpur News : जबलपुर और इसके आसपास के क्षेत्रों में हो रही मानसूनी बारिश ने बरगी बांध को पूरा भर दिया हैं, बांध में लगातार पानी बढ़ने से अब सिंचाई विभाग ने जल स्तर को मेंटेन करने की प्लानिंग कर ली है, विभागीय अधिकारियों ने वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक कर तय किया है कि बांध का जल स्तर बढ़ने की स्थिति में आज शाम 4 बजे के आसपास पांच गेटों को आधा आधा मीटर की ऊंचाई तक खोला जा सकता है। विभाग ने इसके लिए बांध के आसपास रहने वालों के लिए अलर्ट जारी कर दिया लेकिन बारिश नहीं होने से जलस्तर नहीं बढ़ा और फिर गेट खोलने का फैसला टाल दिया गया।

गेट से प्रति सेकेंड 325 घन मीटर पानी निकालने की प्लानिंग 

रानी अवंति बाई लोधी सागर परियोजना बरगी बांध के जल स्तर को नियंत्रित करने के लिए अधिकारियों ने आज मंगलवार की शाम 4 बजे इक्कीस में से पांच गेटों को आधा-आधा मीटर ऊंचाई तक खोले जाने की तैयारी की थी । गेट से प्रति सेकेंड 325 घन मीटर पानी की निकासी की संभावना परियोजना प्रशासन द्वारा बताई गई थी। परियोजना प्रशासन ने जलद्वारों को खोले जाने की संभावनाओं के मद्देनजर अलर्ट जारी कर निचले क्षेत्र के रहवासियों से नर्मदा तट से सुरक्षित दूरी बनाये रखने का आग्रह भी किया।

बांध का जलस्तर 31 जुलाई तक 417.50 मीटर रखा जाना निर्धारित है

रानी अवंति बाई लोधी सागर परियोजना के मुख्य अभियंता डी एल वर्मा ने बताया कि बरगी जलाशय के 14 हजार 556 वर्ग किलोमीटर के जलग्रहण क्षेत्र में विगत चार दिनों में 42.38 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई है। बांध के ऑपरेशनल मैन्युल के मुताबिक इसका जलस्तर 31 जुलाई तक 417.50 मीटर रखा जाना निर्धारित है। मुख्य अभियंता वर्मा ने बताया कि वर्तमान में बरगी जलाशय में 602 घनमीटर (21 हजार 260 घन फुट) प्रति सेकेंड वर्षा जल की आवक हो रही है । इसे देखते हुये मंगलवार 18 जुलाई को बरगी बांध का जलस्तर 418 मीटर के ऊपर पहुँचने की संभावना है ।

शाम 4 बजे खुल सकते हैं पांच गेट, निचले क्षेत्र के निवासियों को बांध से दूर रहने की अपील 

उन्होंने बताया कि वर्षा एवं पानी की आवक को देखते हुये मंगलवार 18 जुलाई की शाम 4 बजे बांध के पाँच जलद्वार (स्पिल-वे गेट) आधा-आधा मीटर ऊंचाई तक खोले जाने की संभावना है,  इन जलद्वारों से 325 घनमीटर प्रति सेकेंड पानी की निकासी की जायेगी। रानी अवंति बाई लोधी सागर परियोजना के मुख्य अभियंता ने बताया कि बांध से पानी छोड़े जाने से निचले क्षेत्र के नर्मदा घाटों में जल स्तर तीन से चार फुट की वृद्धि होगी । उन्होंने बांध के निचले क्षेत्र के रहवासियों एवं नागरिकों से नर्मदा के तटीय एवं जलभराव क्षेत्रों से सुरक्षित दूरी बनाये रखने की अपील की है। लेकिन बांध के आसपास बारिश ना होने के कारण आज मंगलवार को बरगी बांध के गेट नहीं खोले जाने का फैसला लिया गया। अब बांध का जलस्तर बढ़ने के बाद गेटों को खोलने का फैसला लिया जाएगा।

जबलपुर से संदीप कुमार की रिपोर्ट  


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ.... पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News