निजी अस्पताल में खत्म हुई ऑक्सीजन, जबलपुर पुलिस ने की मदद, तुरंत पहुंचाया सिलेंडर

जबलपुर के एक निजी अस्पताल में ऑक्सीजन खत्म होने के बाद हड़कंप मच गया है जिसके बाद पुलिस ने वहां ऑक्सीजन सिलेंडर पहुंचाया।

जबलपुर, संदीप कुमार। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के जबलपुर (Jabalpur) की पुलिस एक बात फिर कोरोना मरीजों के लिए देवदूत साबित हुई है दरअसल एक निजी अस्पताल में अचानक ऑक्सीजन (Oxygen) खत्म हो गई जिसकी जानकारी जैसे ही पुलिस को लगी तो आनन-फानन में न सिर्फ दूसरे अस्पताल से व्यवस्था की बल्कि उसे अस्पताल तक पहुंचाया, कहा जा रहा है कि पुलिस के इस काम से आज कई मरीजों की जान बच गई।

यह भी पढ़ें…खरगोन : मंत्री ऊषा ठाकुर ने ओखलेश्वर धाम में किया सुंदर कांड, कोरोना से मुक्ति के लिए की प्रार्थना

गोहलपुर पुलिस बनी देवदूत
जानकारी के मुताबिक चंडाल भाटा स्थित न्यू ट्रामा लाइफ अस्प्ताल में गुरुवार की सुबह तीन बजे अचानक ऑक्सीजन खत्म हो गई, परिजनों को जब ये सूचना मिली तो अस्पताल में हड़कंप मच गया, इधर हंगामे की सूचना मिलते ही गोहलपुर थाना पुलिस मौके पर पहुंची तो देखा कि मरीजों के लिए लगी ऑक्सीजन खत्म हो गई है ना डॉक्टर ना पुलिस और ना परिजनों को सूझ रहा था कि इतने कम समय में ऑक्सीजन कहां से मंगवाई जाए।

निजी अस्पताल में खत्म हुई ऑक्सीजन, जबलपुर पुलिस ने की मदद, तुरंत पहुंचाया सिलेंडर

पास की अस्पताल से लाए गए ऑक्सीजन सिलेंडर
ऐसे में जल्दी ही ऑक्सीजन की व्यवस्था करनी थी क्योंकि अगर देर हो गई तो कई मरीजों की जान पर बन सकती है लिहाजा पुलिस ने पास के मेट्रो अस्पताल से तुरंत ही ऑक्सीजन के 5 सिलेंडर अपनी गाड़ी में भर कर लाए और मरीजों को फिर वह ऑक्सीजन लगाई गई,अच्छी बात यह थी कि इस पूरे घटनाक्रम के दौरान किसी भी मरीज की स्थिति नहीं बिगड़ी और समय रहते ऑक्सीजन लगा दी गई।

एक बार फिर देवदूत बनी जबलपुर पुलिस
कभी ऑक्सीजन की व्यवस्था करना, कभी अपना वेतन ईलाज के लिए दे देना तो कभी प्लाज़मा दान करना इस तरह से इस कोरोना काल मे जबलपुर पुलिस (Jabalpur Police) मदद करते हुए दिख रही है,आज एक बार फिर गोहलपुर पुलिस ने बता दिया कि हम ईलाज करवा रहे मरीजो को कुछ नही होने देंगे।

यह भी पढ़ें…भिंड में माधवराव सिंधिया कोविड केयर सेंटर का हुआ शुभारंभ