राजधानी में पीएम के कार्यक्रम पर संस्कारधानी में जमकर बरसे कांग्रेस नेता

जबलपुर, संदीप कुमार। सोमवार 15 नवंबर का दिन मध्यप्रदेश की राजनीति के लिए अहम दिन था, जहाँ भारतीय जनता पार्टी ने देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को राजधानी में आमंत्रित कर भगवान बिरसा मुंडा की जयंती पर जनजातीय सम्मेलन किया तो वही मध्यप्रदेश की संस्कारधानी में कांग्रेस के दिग्गज नेता आदिवासियों के सहारे भाजपा पर हमला बोल रहे थे।

अब कंगना के बयान के खिलाफ किन्नर अखाड़ा, कहा – वापिस लें बयान”

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का भगवान बिरसा मुंडा की जयंती में आज भोपाल आना हुआ जिस पर कांग्रेस ने कटाक्ष किया है, मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भाजपा के द्वारा आयोजित आदिवासी कार्यक्रम को ठेकेदारों के कार्यक्रम बताया है, कमलनाथ ने कहा है कि आज आखिर क्यों 18 साल बाद भाजपा को आदिवासियों की याद आई है,उन्होंने कहा है कि भाजपा का यह कार्यक्रम जनता का गुमराह करने वाला है जिस पर की जनता के करोड़ो रूपये लगाए गए है।

खनियाधाना : EOW की बड़ी कार्रवाई, 30 हजार की रिश्वत लेते धराया रोजगार सहायक

वही जबलपुर में भगवान बिरसा मुंडा जयंती के कार्यक्रम में शामिल हुए मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने शिवराज सरकार पर जमकर निशाना साधा उन्होंने कहा कि हमारी सरकार के समय ग्रामीणों के लिए कई तरह की योजनाएं बनाई गई थी हमारी योजना में यह भी था कि गांव में विकास का अगर कोई भी काम होता तो उसे पहले ग्राम सभा से पारित करवाना होता था पर अब की भाजपा सरकार ने इस कार्यक्रम इस तरह के कामों को लेकर सिर्फ सूचित करने का अधिकार दे दिया है ऐसे में गांव में गरीब जनता को योजनाओं का लाभ नहीं मिल पा रहा है, मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने भोपाल में हो रहे कार्यक्रम को लेकर भी अपना बयान दिया है उन्होंने कहा है कि आज जो भाजपा ने कार्यक्रम किया गया है वह सरकारी पैसो का दुरुपयोग है, उन्होंने कहा कि क्या भारतीय संविधान में भाजपा को शासकीय रुपयों का दुरुपयोग करने का अधिकार है,ये संविधान के कानून के खिलाफ है जिसकी शिकायत कांग्रेस करेगी, दिग्विजयसिंह ने इस दौरान यह भी कहा कि यह मोदी जी को बदनाम करने की साजिश है मामू की।