इंसानियत की मिसाल, मुस्लिमों ने दिया हिन्दू की अर्थी को कंधा, रीति रिवाजों से कराया अंतिम संस्कार

जबलपुर|संदीप कुमार| jabalpur news कोरोना वायरस (Corona Virus) कोरोना संकट काल के बीच जबलपुर में साम्प्रदयिक सद्भाव की तस्वीर सामने आई है| जब पूरा शहर ब्लॉक डाउन है लोग अपने अपने घरो के अंदर है तो ऐसे समय पर हनुमानताल निवासी अरुण कुमार गर्ग का अंतिम संस्कार मुस्लिमों ने किया। गरीब नवाज कमेटी के सदस्य इनायत अली और उनके सहयोगियों ने अरुण कुमार गर्ग की अर्थी को ना सिर्फ कांधा दिया बल्कि मुक्तिधाम तक पहुंचा कर उनकी बेटे से मुखाग्नि भी दिलवाई।

गरीब नवाज कमेटी के इनायत अली ने बताया कि हनुमानताल निवासी अरुण कुमार गर्ग का अचानक ही दोपहर को 12 बजे घर पर निधन हो गया है। घर पर मृतक की पत्नी और उसके एक मासूम बेटे के अलावा कोई भी नहीं था।लॉक डाउन के चलते ना ही जिला प्रशासन उनकी मदद कर रहा है और ना ही रिश्तेदार। लिहाजा गरीब नवाज कमेटी के सदस्य एक बार फिर इस पीड़ित परिवार की मदद के लिए आगे आए।जैसे ही इनायत अली को इस पूरे घटनाक्रम की सूचना मिली तो वह अपने साथियों के साथ हनुमानताल जैन मंदिर के पास पहुंचे और अरुण कुमार गर्ग के शव को लेकर मुक्तिधाम आए। जहां पर की पूरी हिंदी रीति रिवाज के साथ मृतक का अंतिम संस्कार किया गया।इतना ही नही शाम होने के चलते इनायत अली और उनके साथियों के मुक्तिधाम पर ही अपना रोजा खोला।