जबलपुर में अतिथि शिक्षकों का अनोखा प्रदर्शन, नर्मदा में उतरकर किया जल सत्याग्रह

अतिथि शिक्षकों की मांग है कि विभागीय परीक्षाएं आयोजित कर उन्हें उनकी योग्यता के अनुसार गुरुजी की तरह नियमित किया जाए।

जबलपुर, संदीप कुमार। मध्यप्रदेश (MP) में लंबे समय से, नियमितिकरण की मांग कर रहे अतिथि शिक्षकों (Guest Teachers) ने आज जबलपुर (Jabalpur) में अलग ढंग से विरोध जताया, अतिथि शिक्षक आज जबलपुर में नर्मदा नदी के ग्वारीघाट (Gwarighat) पहुंचे जहां उन्होने नदी में उतरकर जल सत्याग्रह किया। नदी में उतरे अतिथि शिक्षकों ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाज़ी की और उन्हें नियमत करने की मांग के साथ जल-सत्याग्रह किया।

यह भी पढ़ें…Shilpa Shetty ने सिर मुंडवाया, देखिये एक्ट्रेस का नया लुक

आंदोलन की चेतावनी दी
प्रदर्शन के दौरान अतिथि शिक्षकों ने अपने उग्र आंदोलन की रणनीति का भी ऐलान किया। अतिथि शिक्षक संघ ने चेतावनी दी है कि अगर सरकार नई भर्तियों की बजाय पुराने अतिथि शिक्षकों को एक हफ्ते के भीतर नियमित नहीं करती है तो प्रदेश भर के अतिथि शिक्षक बड़ा आंदोलन करेंगे। आपको बता दें कि प्रदेश के सभी 52 जिलों के अतिथि शिक्षक अगले हफ्ते राजधानी भोपाल पहुंचकर सीएम हाउस का घेराव करेंगे जिसकी चेतावनी आज जबलपुर में अतिथि शिक्षक संघ ने दी है। प्रदेश के शासकीय स्कूलों में 13 सालों से काम कर रहे, अतिथि शिक्षकों की मांग है कि विभागीय परीक्षाएं आयोजित कर उन्हें उनकी योग्यता के अनुसार गुरुजी की तरह नियमित किया जाए।