बेलगाम अपराधी बेअसर जीआरपी, कटनी में मोबाइल छीनकर भाग रहे शख्स को पकड़ने में अंटेडर का ट्रेन से कटा पैर

Shashank Baranwal
Published on -
katni

Katni News: मध्य प्रदेश के कटनी में आए दिन चलती ट्रेन से मोबाइल लूटने की घटनाएं आम हो गई है। ताजा मामला स्पेशल डीजी रेल के जीआरपी थाने के निरीक्षण से पहले एक कोच अटेंडर का मोबाइल छीनकर बदमाश भागने लगा। जिसका पीछा करने में अटेंडर ट्रेन की चपेट में आ गया और उसका एक पैर कट गया।

एसी कोच में अटेंडर का काम करता है घायल युवक

जानकारी के अनुसार राजकुमार चौहान उम्र 40 साल निवासी नयागांव थाना एनकेजे कटनी ट्रेनों के एसी कोच में अटेंडर का काम करते हैं। उनकी ड्यूटी सोमनाथ एक्सप्रेस में लगी थी। घायल युवक जबलपुर जाने के लिए कटनी जंक्शन से रीवा-जबलपुर इंटरसिटी एक्सप्रेस में सवार हुआ। ट्रेन जंक्शन के आगे बढ़ी तो राजकुमार गेट के पास खड़े होकर मोबाइल से बात कर रहे थे। तभी बदमाश मोबाइल लूटने के लिए उनपर झपट पड़ा। इस झटके से राजकुमार कटनी साउथ स्टेशन के समीप ट्रेन से नीचे गिरे तो पांव पहिए के नीचे आने से पंजे का हिस्सा कट गया। यात्रियों के शोर मचाने पर स्थानीय लोग दौड़कर आए और रेलवे पुलिस को सूचना दी।

आपको बता दें घायल राजकुमार परिवार के इकलौते कमाने वाले सदस्य हैं। इस घटना ने उन्हें अपाहिज कर दिया। इससे परेशान उन्होंने कहा कि अब उन्हें भविष्य की चिंता सता रही है। घटना के संबंध में उन्होंने बताया कि वे ट्रेन से अक्सर आते-जाते थे। इसलिए इस तरह की घटना की आशंका नहीं थी। निश्चिंत होकर बात कर रहे थे। तभी एक व्यक्ति ने बड़ी तेजी से उनके हाथ को पकडकऱ मोबाइल छीनने लगा। वे कुछ समझ पाते कि उससे पहले ही धक्के से धड़ाम से नीचे आ गए, उसके बाद उन्हें कुछ नहीं पता।

पांच महीने पूर्व चोरी के मामले में हुई थी एक शख्स की हत्या

गौरतलब है कि यह कोई पहली घटना नहीं हैं। बीते दिनों 3 ऐसे ताजे मामले सामने आए हैं जिसमे मोबाइल छीन आरोपी ट्रेन से कूदकर भाग चुके है। लेकिन जीआरपीएफ इस घटनाओं पर रोक नहीं लगा पा रही है। वहीं पांच महीने पहले एक यात्री का मोबाइल इसी तरह लूट लिया गया था। जब यात्री ने उनका पीछा किया तो हत्या कर दी थी। इस गंभीर घटना के बाद भी रेल पुलिस और जिला पुलिस बल ने सुरक्षा के इंतजाम नहीं बढ़ाए।

कटनी से अभिषेक दूबे की रिपोर्ट

 

 


About Author
Shashank Baranwal

Shashank Baranwal

पत्रकारिता उन चुनिंदा पेशों में से है जो समाज को सार्थक रूप देने में सक्षम है। पत्रकार जितना ज्यादा अपने काम के प्रति ईमानदार होगा पत्रकारिता उतनी ही ज्यादा प्रखर और प्रभावकारी होगी। पत्रकारिता एक ऐसा क्षेत्र है जिसके जरिये हम मज़लूमों, शोषितों या वो लोग जो हाशिये पर है उनकी आवाज आसानी से उठा सकते हैं। पत्रकार समाज मे उतनी ही अहम भूमिका निभाता है जितना एक साहित्यकार, समाज विचारक। ये तीनों ही पुराने पूर्वाग्रह को तोड़ते हैं और अवचेतन समाज में चेतना जागृत करने का काम करते हैं। मशहूर शायर अकबर इलाहाबादी ने अपने इस शेर में बहुत सही तरीके से पत्रकारिता की भूमिका की बात कही है– खींचो न कमानों को न तलवार निकालो जब तोप मुक़ाबिल हो तो अख़बार निकालो मैं भी एक कलम का सिपाही हूँ और पत्रकारिता से जुड़ा हुआ हूँ। मुझे साहित्य में भी रुचि है । मैं एक समतामूलक समाज बनाने के लिये तत्पर हूँ।

Other Latest News