मुख्यमंत्री विद्युत बिलों में राहत योजना-2022 आज से शुरू

शिवराज सरकार

डेस्क रिपोर्ट। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुरुवार को स्लीमनाबाद (कटनी) में “मुख्यमंत्री विद्युत बिलों में राहत योजना-2022’ की शुरुआत की, इस योजना से प्रदेश के लाखों प्रदेशवासियों को राहत मिलेगी।  गौरतलब है कि कोविड के समय देश के साथ प्रदेश में लागू लॉकडाउन में बिजली उपभोक्ताओं के आए बिजली बिल में राहत देने के लिए “मुख्यमंत्री विद्युत बिलों में राहत योजना-2022’ शुरू की जा रही है, इस योजना से प्रदेश के 88 लाख बिजली उपभोक्ताओं को 6414 करोड़ रुपए की राहत मिलेगी। खास बात यह है कि अधिभार से बचने ऐसे उपभोक्ताओं को जिन्होंने बिजली का बिल भर दिया था उन्हे भी “मुख्यमंत्री विद्युत बिलों में राहत योजना-2022’ का लाभ मिलेगा। उनके द्वारा जमा की गई राशि को उनके अगले बिल में कम कर दिया जाएगा। साथ ही बकाया में कनेक्शन कटने वाले उपभोक्ताओं को भी फिर से कनेक्शन जुड़वाने पर इसका लाभ मिलेगा। पूरे प्रदेश में आज से इसे लागू किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें… मासूम से बलात्कार कर हत्या करने वाले फांसी के आरोपी के घर पर चला बुलडोजर

दरअसल प्रदेश में कोरोना संक्रमण के दौरान कम आय वर्ग वाले उपभोक्ता जिनका बिल अप्रैल 2020 में बिजली बिल 400 या इससे कम आता था उन घरेलू उपभोक्ताओं का मई, जून व जुलाई महीने का बिजली बिल को होल्ड किया गया था। इस होल्ड हुए बिल की बकाया राशि के निराकरण के लिए “मुख्यमंत्री विद्युत बिलों में राहत योजना-2022” लागू की है। अब इन बिलों के लिए शिविर लगाए जा रहे है जो प्रदेश के लगभग हर शहर में सभी संभाग और उप संभाग में आयोजित किए जायेगे, आवेदक को योजना का लाभ लेने के लिए बिजली कार्यालय जाकर आवेदन फॉर्म लेना होगा और उसे भरकर जमा करना होगा। जिसके बाद उन्हे इसका लाभ मिलेगा।  योजना में शामिल होने वाले बिजली उपभोक्ताओं को उस दौर के बकाया बिल पर कोई राशि नहीं देनी होगी। योजना के पात्र उपभोक्ताओं का पूरा बकाया माफ होगा। इसके साथ ही बिजली कंपनी बिल में ही लिखकर भेजेगी कि पिछला बिल माफ कर दिया गया है।