अस्पताल में मंत्रीजी के सामने बिफरी महिला, पति से न मिलने देने पर भड़कीं

खंडवा, सुशील विधानी। कोरोना के कहर के बीच एक तरफ जहां मरीज बेहाल हैं, वहीं उनके परिजन भी लगातार परेशानियों से जूझ रहे हैं। एक तरफ अपनों की बीमारी और उसपर उनसे दूर रहने की मजबूरी बेहद त्रासद है। अस्पतालों में भी कोविड पेशेंट से मरीज के मिलने नहीं दिया जाता। ऐसे में कई बार परिजन आपा खो देते हैं, ऐसा ही दृश्य खंडवा के कोविड केयर सेंटर में देखने को मिला, जहां एक महिला वन मंत्री विजय शाह और अपर कलेक्टर पर भड़क गईं।

ये भी देखिये – बुरहानपुर कलेक्टर की CMO को फटकार, बोले- पालन नहीं कर सकते तो दूसरा काम देखें

इस महिला के पति की तबियत खराब होने के बाद उन्हें कोरोना वार्ड में भर्ती कराया गया है। महिला का कहना है कि वो दो दिन से पहेशान हो रही है और डॉक्टर कह रहे हैं कि उनके पति की हालत क्रिटिकल है। ऐसे में उन्हें पति से मिलने भी नहीं दिया जा रहा है। बुधवार को जब मंत्री विजय शाह और अपर कलेक्टर अस्पताल के दौरे पर पहुंचे तो महिला उनके सामने बिफर गईं। वो कह रही थी कि ‘मुझे मेरे पति से मिलने नहीं दिया जा रहा है, आप कुछ भी करिए मुझे मिलना है। अगर अस्पताल प्रबंधन ने इजाजत नहीं दी तो मैं ऐसे ही मिलने चले जाऊंगी, रोक के बताए कोई मुझे।’ महिला के इस तरह मंत्री और उच्च अधिकारियों के सामने आपा खो देने के बाद अस्पताल प्रबंधन ने उन्हें पीपीई किट पहनकर उनके पति से मिलने की अनुमति दी। बता दें कि खंडवा में कोविड-19 मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। बुधवार को वन मंत्री विजय शाह ने कोविड केयर सेंटर में जाकर वहां भर्ती मरीजों से चर्चा कर उनके स्वास्थ्य की जानकारी ली। उन्होंने मरीजों को हर संभव इलाज और अन्य सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए आश्वस्त किया।