बुरहानपुर कलेक्टर की CMO को फटकार, बोले- पालन नहीं कर सकते तो दूसरा काम देखें

इससे नाराज होकर कलेक्टर प्रवीण सिंह ने सार्वजनिक रूप से नगर पालिका के सीएमओ राजेश मिश्रा व अफसरों को सार्वजनिक रूप से फटकार लगाई

बुरहानपुर कलेक्टर

बुरहानपुर, शेख रईस। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh)  के बुरहानपुर कलेक्टर (Burhanpur Collector) ने आज कोरोना (Coronavirus) में लापरवाही बरतने पर नगर पालिका नेपानगर के सीएमओ Burhanpur CMO) राजेश मिश्रा को जमकर फटकार लगाई । सीएमओ ने अपनी सफाई में कहा कि होम क्वारेंटाइन वाले संक्रमित झगड़े करते है, तो कलेक्टर ने साफ कहा कि अगर आप सरकारी आदेशों के पालन ठीक तरीके से नही कर सकते तो दूसरा काम देख लें।झगड़ों को सुलझाएं और ज्यादा विवाद हो तो मुझे बताएं।

यह भी पढ़े.. सरकारी नौकरी 2021: 12वीं पास के लिए यहां निकली है भर्ती, ऐसे करें अप्लाई

दरअसल, बुरहानपुर के नेपानगर में लगातार कोरोना के मामले बढ़ते ही जा रहे है, जिसको देखते हुए वहां कोरोना कर्फ़्यू लगा दिया है, इसी सिलसिले में आज बुरहानपुर कलेक्टर और बुरहानपुर एसपी (Burhanpur SP) राहुल कुमार लोढा संक्रमण की रोकथाम के लिए किए जा रहे कामकाज की समीक्षा करने नेपानगर पहुंचे। समीक्षा के दौरान पाया गया कि नगर पालिका नेपानगर के सीएमओ राजेश मिश्रा व अन्य अफसर, कोरोना संक्रमित जो होम क्वारंटाईन है, उनकी निगरानी में घोर लापरवाही कर रहे है। इससे नाराज होकर कलेक्टर प्रवीण सिंह ने सार्वजनिक रूप से नगर पालिका के सीएमओ राजेश मिश्रा व अफसरों को सार्वजनिक रूप से फटकार लगाई और सरकारी आदेशों का पालन ना करने पर दूसरा काम देखने की नसीहत दे डाली।

यह भी पढ़े.. कोरोना के बढ़ते आंकड़ों के बाद बोले शिवराज सिंह चौहान- इस फैसले पर कर रहे है विचार

निर्देश के अनुसार, रोजाना आकस्मिक रूप से मैदानी अमले को होम क्वारेंटाइन इन संक्रमितों को तीन बार चेक करने जाना है और लापरवाही पर कार्रवाई करना है। वही संक्रमितों के नहीं पाए जाने पर सीधे उनके खिलाफ एफआईआर करने के निर्देश भी है। इधर, आज आई रिपोर्ट में 27 नए कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं, जिसके बाद जिले में कुल संक्रमितों मरीजों की संख्या बढ़कर 1722 हो गई है, जिसमें से 1465 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं और फिलहाल 225 मरीज एक्टिव है।

बता दे कि बुरहानपुर(Burhanpur) में जिला प्रशासन लगातार कोरोना संक्रमण को रोकने के प्रयास कर रहा है। यहां तक कि किसी भी सावर्जनिक कार्यक्रम को सीमित कर दिया गया है, खुद कोरोना को रोकने के लिए बुरहानपुर कलेक्टर प्रवीण सिंह लगातार जिले में दौरे कर रहे है। बॉर्डर पर नाके बंदी कर महाराष्ट्र से बिना जांच आने वालों को सख्ती से बॉर्डर से ही लौटाया जा रहा है। बुरहानपुर कलेक्टर प्रवीण सिंह की के कार्यो की स्वयं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) भी तारीफ कर चुके है।  महराष्ट्र (Maharashtra) से लगे होने के बावजूद बुरहानपुर में प्रशासन की कार्यप्रणाली से कोरोना की रोकथाम में काफी हद तक कामयाब रहे हैं।