खंडवा में दिखा कश्मीर सा नजारा, आसमान से गिरे ओले, आंधी-बरसात से फसल नष्ट

तापमान में गिरावट दर्ज की गई। तेज आंधी व पानी के साथ हुई भारी पैमाने पर ओलावृष्टि ने भारी तबाही मचाई है। पचास से लेकर सौ ग्राम तक वजन के पत्थर गिरने से पूरा इलाका सफेद चादर से ढक गया।

khandwa

खंडवा, सुशील विधानी। खंडवा जिले में गुरुवार शाम मौसम में अचानक बदलाव आया। खंडवा जिले के ग्रामीण अंचलों में खास करके पंधाना ओलावृष्टि के साथ बारिश हुई। ओले गिरने से पंधाना के इंदौर इच्छापुर हाईवे पर और घरों पर बर्फ की चादर छा गई। कश्मीर जैसा नजारा देखने को मिला। वहीं बेमौसम बारिश से बारिश से गेहूं और चने की फसल को नुकसान पहुंचा। पंधाना तहसील के कई गांव में तेज हवा आंधी के साथ ओले गिरे। लगभग आधे घंटे की ओलावृष्टि में गाँव की गलियां सफेद हो गई।

चने के आकार के यह ओले बोरगांव बुजुर्ग, कोदड़ ,पाडल्या, जगतपुरा और आसपास के गांव में गिरे हैं । इस ओला वृष्टि से गांव में अरबी और प्याज की फसलों को काफी नुकसान पहुंचा है । कई खेतों में गेहूं की कटी हुई फसल भी इस ओलावृष्टि से प्रभावित हुई है ।ओलावृष्टि और बारिश से फसलों को नुकसान पहुंचा। कई स्थानों पर किसानों ने गेहूं की फसल काटकर खेत में रखी थी। बारिश से इसे ज्यादा नुकसान पहुंचा।

Read More:MP Weather Alert: इन जिलों में आज गरज-चमक के साथ बारिश के आसार, येलो अलर्ट

पंधाना क्षेत्र मेंआंधी के साथ 30 मिनट बारिश हुई। बारिश से जनजीवन प्रभावित हुआ। जिला मुख्यालय पर भी दोपहर में अचानक मौसम बदला। शाम करीब पांच बजे बूंदाबांदी हुई। बारिश के बाद मौसम में ठंडक घुल गई। तापमान में गिरावट दर्ज की गई। तेज आंधी व पानी के साथ हुई भारी पैमाने पर ओलावृष्टि ने भारी तबाही मचाई है। पचास से लेकर सौ ग्राम तक वजन के पत्थर गिरने से पूरा इलाका सफेद चादर से ढक गया। तबाही का मंजर ऐसा था कि घरों पर लगे टीन शेड हवा के झोंको के साथ उड़ गए। कच्चे मकान धराशायी।

khandwa