खंडवा- अवैध उत्खनन को लेकर विधायकों की शिकायत के बाद प्रशासन की कार्रवाई

खंडवा, सुशील विधानी। जिले में अवैध उत्खनन को लेकर विधायकों द्वारा शिकायत किए जाने के बाद गुरुवार को अफसरों की टीम जांच के लिए मैदान में उतरी। कलेक्टर के निर्देश पर एसडीएम के नेतृत्व में अधिकारियों की टीम उत्खनन वाले क्षेत्रों में पहुंची। टीम ने शिकायत में दिए गए बिंदुओं के आधार पर मौके का मुआयना किया। देशगांव में उत्खनन को लेकर प्रारंभिक अनियमितता पाए जाने पर एक क्रेशर मशीन को सील कर दिया गया है।

BJP MP की गाड़ी पर हमलावरों ने किया हमला, आई चोट, अस्पताल में भर्ती

खंडवा- अवैध उत्खनन को लेकर विधायकों की शिकायत के बाद प्रशासन की कार्रवाई

बगैर अनुमति के जमीन में अवैध रूप से उत्खनन कर शासन को राजस्व का नुकसान पहुंचाने वाले कारोबारियों पर कार्रवाई को लेकर जिला प्रशासन लंबे समय बाद सक्रिय हुआ है। यह सक्रियता खंडवा विधायक देवेंद्र वर्मा, पंधाना विधायक राम दांगोरे और मांधाता विधायक नारायण पटेल द्वारा संयुक्त रूप से की गई शिकायत के बाद सामने आई है। जिला कलेक्टर एक्शन मोड में आते ही ताबड़तोड़ गठित की गई अधिकारियों की टीम गुरुवार को ग्राम भोजाखेड़ी और देशगांव पहुंची। एसडीएम ममता खेड़े के निर्देश पर तहसीलदार पीएस अगास्या और खनिज विभाग के अधिकारी सचिन वर्मा ने शिकायत के आधार पर यहां बंसल क्रेशर की खदानों को लेकर जांच कराई। अधिकारियों ने यह देखा कि शासन से जितनी जमीन पर उत्खनन की अनुमति ली गई है, कहीं उससे अधिक में तो काम नहीं हो रहा है। इसके लिए क्षेत्र का परीक्षण और सीमांकन कराया गया। इसके अलावा लीज पर ली गई जमीन के दस्तावेज भी जांचे। विधायकों ने नियमानुसार लीज नहीं लिए जाने और पंचायत की आपत्ति के बावजूद यहां उत्खनन किए जाने की शिकायत जिला प्रशासन को दिए पत्र में की है। दोपहर से शाम तक मौके पर जांच प्रक्रिया चलती रही। जिला प्रशासन द्वारा बंसल क्रेशर की ग्राम वीरपुर स्थित खदान की भी जांच कराई जाएगी। करीब पांच दिन तक यह जांच प्रक्रिया चलेगी। एसडीएम ममता खेड़े ने बताया कि विधायकों द्वारा की गई शिकायत में करीब दस बिंदु शामिल हैं। जिनके आधार पर टीम द्वारा जांच की जा रही है।

काम बंद फिर भी खड़ी थी क्रेशर मशीन
गुरुवार को देशगांव की खदान पर निरीक्षण और जांच के बाद यहां खड़ी क्रेशर मशीन को अधिकारियों ने सील करा दिया। अधिकारियों को कंपनी से दी गई जानकारी के अनुसार देशगांव की खदान पर काम बंद है। जबकि यहां क्रेशर मशीन पाई गई। कंपनी को भोजाखेड़ी से पत्थर लाकर इसे क्रेश करने अनुमति शासन द्वारा दी गई है। प्रारंभिक तौर पर अनियमितता मिलने पर मशीन को सील कर दिया गया।

विधायक भी रहे मौजूद
देशगांव में बंसल क्रेशर की खदान पर जांच करने जब अफसरों की टीम पहुंची तो यहां विधायक देवेंद्र वर्मा भी मौजूद रहे। उन्होंने कहा कि कमलनाथ सरकार के दौरान जो भी गलत काम हो रहे थे उन्हें चिन्हित कर कार्रवाई कराई जा रही है। जिले में अवैध रूप से चल रहे उत्खनन को बंद कराया जाएगा। इसके लिए मैंने और पंधाना विधायक राम दांगोरे तथा मांधाता विधायक नारायण पटेल ने शिकायत की थी। इसी आधार पर जांच में अनियमिता सामने आ रही है।