इलेक्ट्रिक तार फेंसिंग से सुरक्षित हुई खंडवा जेल, सिमी जेल ब्रेक कांड के बाद उठाया यह कदम

सिमी जेल ब्रेक कांड के बाद से खंडवा जेल इलेक्ट्रिक तार फेंसिंग से सुरक्षित से सुरक्षित किया है।

खंडवा,सुशील विधानी। शहीद जननायक टंट्या भील जिला जेल की दीवारें अब बदमाशों को करंट मारेगी। दीवार पर इलेक्ट्रिक तार फेंसिंग की गई है। इससे जेल की दीवारें सुरक्षित हो गई हैं। दीवार को छूते ही बदमाश को करंट लगेगा। सिमी जेल ब्रेक कांड (Simi jail break case) के बाद से जेल की सुरक्षा व्यवस्था को पुख्ता किया है।

यह भी पढ़ें…Coronavirus: तीरथ सिंह रावत कोरोना पॉजिटिव, संपर्क में आए मंत्रियों-संतों में हड़कंप

खंडवा जेल प्रशासन ने सुरक्षा का घेरा बढ़ा दिया गया है। जिले में स्थित यह जेल शहीद जननायक ट्टया भील के नाम से है। इसे करीब 147 साल हो गए है। वर्षों पुरानी इस जेल में बंद कैदियों की संख्या क्षमता से कई गुना अधिक है। 208 बंदियों की क्षमता वाली इस जेल में वर्तमान में 550 बंदियों को रखा गया है। कोरोना काल को देखते हुए 100 कैदियों को अन्य जगह शिफ्ट किया जाएगा। इसके लिए लिखित आदेश दे दिया गया है.अब शासन के आदेश का इंतजार है। इसे देखते हुए जेल की सुरक्षा व्यवस्था को बढ़ाया जा रहा है। इस कड़ी में जेल की दीवारों की सुरक्षा भी बढ़ा दी गई है। दीवारों से दो-तीन फीट की दूरी पर खंभे लगाए गए हैं। इन सभी खंबों पर तार फेंसिंग की गई है। इन तारों में बिजली का करंट छोड़ दिया है। 24 घंटे दीवारों पर करंट दौड़ रहा है। करंट की वजह से न अंदर न बाहर से कोई दीवारों को छू सकता है। कोई अगर दीवार को फांदने की कोशिश भी करेगा तो तारों में बहता करंट उसे सबक सिखा देगा। तार को छूते ही अलार्म भी बच जाएगा और जेल प्रशासन को इसकी सूचना हो जाएगी। जेल अधीक्षक ललित दीक्षित ने बताया कि जेल की दीवारों पर इलेक्ट्रिक तार फेंसिंग की गई है। इससे जेल की दीवारें पूरी तरह से सुरक्षित हो गई है। दीवारों को छूते ही करंट लग जाएगा। इससे जेल की दीवार अंदर और बाहर दोनों तरफ से सुरक्षित हो गई है।

यह भी पढ़ें…Corona-आगामी आदेश तक सभी स्कूल-कॉलेज बंद, 10वीं और 12वीं को छोड़कर सभी को जनरल प्रमोशन