Khandwa News : जंगल में अवैध रूप से पेड़ काट कर बना डाले खेत, सरकारी जमीनों को कब्जा मुक्त कराने वन विभाग ने चलाया बुलडोजर

जिले से लगे खरगोन, बड़वानी और सेंधवा, के कुछ माफिया होने यहां जंगल की कटाई कर जमीन प्लान कर खेती के उद्देश्य से यहां कब्जा किया हुआ था।

Amit Sengar
Published on -
khandwa forest

Khandwa News : मध्य प्रदेश के खंडवा जिले के गुडी वनक्षेत्र से अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई के लिए आज फॉरेस्ट का अमला जंगल क्षेत्र में पहुंचा है। फाॅरेस्ट अफसरों के साथ पुलिस और राजस्व अधिकारियों के साथ 400 जवानों का फोर्स इस दौरान मौजूद रहा। ये कार्रवाई नाहरमाल सेक्टर के जंगल क्षेत्र में की गई। खेत बन चुके जंगल में जेसीबी मशीनों से खंतियां और गड्‌ढे खोदे जा रहे है। वहीं माफिया द्वारा बोई गई फसल को ट्रैक्टरों से रौंदा दिया गया।

क्या है पूरा मामला

बता दें कि जिले में करीब 10 हजार एकड़ वनक्षेत्र पर माफिया का कब्जा है। सबसे ज्यादा अतिक्रमण नाहरमाल और हीरापुर में किया गया है। यहां दो साल पहले 5 हजार एकड़ के जंगल को खेत बना दिया गया है। माफिया ने इस साल सोयाबीन और मक्का की फसल बोई है। जिस पर आज कार्रवाई करते हुए वन अमले की टीम ने जेसीबी मशीन और ट्रैक्टर से कब्जे के एशिया से बोई गई फसल को नष्ट कर दिया गया और जमीन को कब्जे से मुक्त कराया गया। खंडवा जिले से लगे खरगोन, बड़वानी और सेंधवा, के कुछ माफिया होने यहां जंगल की कटाई कर जमीन प्लान कर खेती के उद्देश्य से यहां कब्जा किया हुआ था।

जंगल में कार्रवाई के दौरान वन, राजस्व और पुलिस के आला- अधिकारी मौजूद है। माफिया से सख्ती से निपटने के लिए बड़ी संख्या में फोर्स ले जाया गया है। हालांकि, कार्रवाई के दौरान अतिक्रमणकारी भी सामने नहीं आए। ग्रामीणों ने प्रशासन का सहयोग करते हुए ट्रैक्टर उपलब्ध कराएं। कार्रवाई के दौरान डीएफओ राकेश डामोर, एसडीएम बजरंग बहादुर, फाॅरेस्ट एसडीओ संदीप वास्कले आदि उपस्थित है।

खंडवा से सुशील विधाणी की रिपोर्ट


About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है। वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”

Other Latest News