खंडवा में नारी सशक्तीकरण के नाम पर हजारों महिलाओं से ठगी, ये है पूरा मामला

पदों का लालच देकर प्रत्येक महिलाओं से ढाई सौ रुपए लिए गए और महिलाओं ने भी समाज सेवा के नाम पर ऐसी फर्जी संस्था को पैसे जमा करा दिए गए।

खंडवा, सुशील विधानी। खंडवा (Khandwa) में समाज सेवी संस्था में महिलाओं को अच्छे पद देने के लालच में महिलाओं को ठगी का शिकार होना पड़ा। महिलाओं को सामाजिक सेवी संस्था जिसका नाम श्री गुरु दत्तात्रेय सेवा ट्रस्ट राष्ट्रीय विधवा दिव्यांग महिला सशक्तिकरण संघ जोकि खंडवा की मधुबाला शेलार भी फर्जी संस्था का शिकार हुई महिलाओं को जोड़कर उनसे संस्था की सदस्यता के नाम पर प्रत्येक जिले में शाखा खोली गई। जिसमें महिलाओं को अध्यक्ष सहित प्रदेश अध्यक्ष और अन्य पदों का लालच देकर प्रत्येक महिलाओं से ढाई सौ रुपए लिए गए और महिलाओं ने भी समाज सेवा के नाम पर ऐसी फर्जी संस्था को पैसे जमा करा दिए गए।

यह भी पढ़ें…इंदौर में शराब ठेकेदार पर बरसी गोली, गैंगवार की आशंका ! 

खंडवा में 12 फरवरी 2021 को इस संस्था का गठन किया गया। जिसमें कई महिलाओं को जोड़ा गया। 8 मार्च को जिला अध्यक्ष के पद पर मधुबाला से लार को प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त किया गया। महिलाओं को शक हुआ कि संस्था द्वारा इतनी जल्दी-जल्दी उन्हें इतने पद पर कैसे नियुक्त किया गया। जिसके बाद महिलाओं द्वारा छानबीन शुरू की गई। जिसमें पता चला कि यह संस्था फर्जी है। विवाह और वृद्धा आश्रम के नाम पर यह संस्था किसी प्रफुल्ल चोकसे से के नाम पर है। जो फर्जी संस्था बनाकर पूरे देश में सैकड़ों महिलाओं से लाखों रुपए सेवा के नाम पर लूटते है। संस्था के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेश वर्मा, बिहार राष्ट्रीय महासचिव रघुवीर सिंह, नई दिल्ली सूर्यकांत वर्मा, छिंदवाड़ा और शहजादा आसिफ खान, बुरहानपुर राष्ट्रीय सचिव रमेश पुरी, राष्ट्रीय सचिव अनिल कुमार गुप्ता, राष्ट्रीय प्रवक्ता नियुक्त किए गए थे। और यही इन पदों पर है। महिलाओं ने पुलिस प्रशासन से मांग की गई कि इन ठगों से पैसे वसूले जाएं जिन्होंने फर्जी संस्था के नाम पर महिलाओं को लूटा है। ऐसी संस्था के पदाधिकारियों पर कानूनी कार्रवाई की जानी चाहिए जो फर्जी संस्था चला रहे हैं।