लकड़ी तस्करों ने वनकर्मियों और ग्रामीणों पर देशी कट्टे से किया हमला, 16 गिरफ्तार

wood-smuggler-attack-on-forest-officers

खंडवा: सुशील विधानि।

खंडवा के खालवा वन परिक्षेत्र में लकड़ी तस्करों और वन विभाग अमले के बीच मुठभेड़ हो गई। लकड़ी तस्करों ने वनकर्मियों और ग्रामीणों पर देसी कट्टे से फायरिंग कर दी। ग्रामीणों की मदद से फॉरेस्ट कम्रचारियों ने लकड़ी तस्करों को किया गिरफ्तार। एक डंपर , सागौन की लकड़ी जप्त, सहित देशी कट्टा सहित 16 आरोपी भी गिरफ्तार। इस मुठभेड़ में दो वन कर्मियों को आई चोटें। इस पुरे मामले में खालवा पुलिस कर रही है कार्रवाई।

खंडवा के खालवा वन परिक्षेत्र में लंबे समय से लकड़ी तस्करी की सुचना मिल रही थी। रात के 2 बजे जंगल में लाइट दिखी तो नाकेदार और वन चौकीदार ने जंगल के अंदर जाकर देखा तो दो बाइक सवार एक डम्फर वाहन में लकड़ी चोरी कर भाग रहे थे। चौकीदार ने जब बाइक सवारों को रोका तो तस्करों ने उसे पकड़ कर पेड़ से बांध दिया इतने में मौका पाकर एक वनकर्मी वहां से जान बचा कर भाग निकला। आगे जाकर वनकर्मी ने अपने वरिष्ठ अधिकारियों को पूरी घटना से अवगत कराया। वन विभाग को सुचना मिलते ही वन अमला सुंदरदेव के जंगलों में तस्करों की सर्चिंग करने लगा। एक ग्रमीण की सुचना पर एक खेत के पास कुछ तस्करों को वन विभाग ने गामीणो की मदद से रोकने की कोशिश की तो तस्करों ने देशी काटते से फायरिंग शुरू कर दी तस्करों दो फायर हवा में किए और एक फायर वनकर्मीयों पर कर दिया। जिसमें दो वनकर्मी बालबाल बच गया। घायल वनकर्मी को शरीर पर चोटे आई हैं ।वहीं वन विभाग ने ग्रामीणो की मदद से एक डंफर और देशी कट्टा सहित 16 तस्करों को गिरफ्तार कर पुलिस के हवाले कर दिया। मिली जानकारी के अनुसार सभी तस्कर हरदा जिले के बड़े लकड़ी माफिया गिरोह के सदस्य हैं।