लापरवाही के आरोप में मंदसौर टीआई निलंबित

Mandsore-TI-suspended-for-negligence

मंदसौर

मध्यप्रदेश के मंदसौर जिले में लापरवाही के चलते टीआई को निलंबित कर दिया गया है। आरोप है कि टीआई ने लूट की रिपोर्ट ना लिखने में कोताही बरती थी। यह कार्रवाई पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार सिंह द्वारा की गई है। टीआई का नाम गरोठ आनंद सिंह आजाद है।

मामला जिले के बोलिया गांव की बाबुल्दा चौकी का है, जहां 16 दिसंबर की रात मुनीम अशोक नीमच से अनाज बेचकर एक मिनी ट्रक से गरोठ आ रहा था, तभी खजूरी पंथ कोटड़ा बुजुर्ग के बीच अज्ञात बदमाशों ने बीच सड़क पर पत्थर जमा कर बैग में रखे माल और 3 लाख रुपये लूट लिए थे।अशोक ने इसकी रिपोर्ट थाने मे करवाने पहुंचा था लेकिन पुलिस ने उसकी रिपोर्ट नही लिखी और वापस लौट दिया।पुलिस की इस लापरवाही के चलते तीन दिन बीत जाने के बावजूद चोरों को पता नही चल पाया है।अशोक और उसके सेठ ने जब इसकी शिकायत पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार सिंह से की तो उन्होंने मामले को गंभीरता से लेते हुए तत्काल प्रभाव से लापरवाही बरतने के आरोप में गरोठ टीआई आनंद सिंह आजाद को निलंबित कर दिया। फिलहाल पुलिस ने अज्ञात बदमाशों के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर लिया है और कुछ संदिग्धों को पुलिस थाने पर लाकर पूछताछ की जा रही है।

बता दे कि मुख्यमंत्री कमलनाथ ने पहले ही सभी को चेताया हुआ है कि काम में लापरवाही ना करे अन्यथा कड़ी कार्रवाई की जाएगी। माना जा रहा है कि इसी को ध्यान में रखते हुए पुलिस अधीक्षक ने ये कार्रवाई की है। बताते चले कि हाल ही में रीवा कमिश्नर और छिंदवाड़ा एसपी का ट्रांसफर किया गया है। अभी और भी अधिकारियों के तबादले होना है, कमलनाथ के आने से अधिकारियों में हलचल तेज  हो गई है।