बिजली के तार टकराने से खेत में रखी गेहूं की फसल ख़ाक

मंदसौर। तरुण राठौर| जिले में इस समय लाकडाउन लागू है। जिसके चलते जिलेभर की मंडी बंद है । जबकि किसानों ने खेत में पक चूकी गेंहू की फसल की कटाई कर ली है पर मंडी बन्द होने के चलते किसान अपनी फसल को बेच नहीं पा रहा है। जिसके चलते गेंहू की फसल निकलने के बाद भी खेत में रखी है। इसी दौरान जिले के शामगढ़ क्षेत्र में लगातार देखने में आ रहा है कि जगह जगह बिजली के तार टकराने से किसानों की कटी हुई फसलें या खड़ी फसलें जलकर राख हो रही है। किसान लगातार 4 महीने तक कड़ी मेहनत कर के फसल को पैदा करता है और बिजली विभाग की कमियों के चलते वही फसल जलकर राख हो जाती है बेचारा किसान कुछ नही कर पाता है। ऐसा लगातार चार-पांच दिन में देखने में आ रहा है कि रोज कहीं ना कहीं आग लगने का मामला सामने आ रहा है।शामगढ़ तहसील के असावती में लगातार तीन दिनों से बिजली के तारों से टकराने से आग लगने के मामले सामने आ रहे हैं | गुरुवार को बिजली के झूलते तार से गेहूं के खेतों में निकाला हुआ भूसा जल गया, वहीं तोलाखेड़ी में भी गेहूं की फसल जलकर राख हो गई । जबकि शुक्रवार को फिर रोडसिंह चौहान पूर्व सरपंच के खेत के 3 बीघा गेहूं जलकर राख हो गए मौके पर ग्रामीणों व फायर ब्रिगेड से आग पर काबू।

बिजली के तारों से लगातार देखने में आ रहा है कि रोज झूलते हुए तारों के आपस में टकराने की वजह से यह हादसे हो रहे हैं अगर बिजली विभाग समय रहते तारो का मेंटेनेंस करवाता है तो किसानों को अपनी मेहनत की 4 माह से कमाई हुई फसल इस प्रकार आंखों के सामने जलते हुए रात देखने का मौका नहीं आता।

इनका कहना है
गर्मी में तारों का मेंटेनेंस करवाया जाएगा, हमारे द्वारा जहा आग लगने का है उस साइड के तारों लाइट काटने की बात की है।जहा ऐसी समस्या ओर है तो मैं दिखाता हूं
अनिल पाटीदार जे ई चंदवासा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here