Lok Sabha Election 2024: मध्य प्रदेश में cVIGIL App पर मिली 4 हजार से ज्यादा शिकायतें, ग्वालियर में सबसे ज्यादा

चुनाव आयोग के द्वारा लोकसभा चुनाव 2024 की प्रक्रिया को कुल 7 चरणों में संपन्न कराया जाएगा। इसके लिए दो चरणों में मतदान की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है।

Shashank Baranwal
Published on -
cVIGIL App

Lok Sabha Election 2024:  लोकसभा चुनाव 2024 के लिए मध्य प्रदेश पूरे देश में 16 मार्च चुनाव आयोग द्वारा आचार संहिता लगाया गया था। वहीं चुनाव के समय शिकायतों के निवारण के लिए चुनाव आयोग के द्वारा सी- विजिल एप (cVIGIL App) तैयार किया गया है। इस ऐप के जरिए प्रदेश में 16 मार्च से 2 मई तक कुल 4 हजार 292 शिकायते मिली हैं। इन शिकायतों की तुरंत कार्रवाई करते हुए निराकरण कर लिया गया है।

ग्वालियर में सबसे ज्यादा मिली शिकायत

मध्य प्रदेश मुख्य निर्वाचन अधिकारी अनुपम राजन के जानकारी देते हुए बताया कि सबसे ज्यादा ग्वालियर जिले से 513, सागर जिले से 327, दमोह से 303, उज्जैन से 267, मुरैना से 231, राजगढ़ से 192, इंदौर से 182, रीवा से 168, कटनी से 131, खरगोन से 124, सीहोर से 120, राजधानी भोपाल से 110, छतरपुर-नरसिंहपुर से 109 और सतना जिले से 105 शिकायते एप के जरिए मिली हैं। वहीं प्रदेश के बचे हुए जिलों से भी शिकायतें मिली हैं। आपको बता दें सी-विजिल एप मिली शिकायत पर 100 मिनट के अंतर्गत शिकायतों निवारण करने के लिए कार्रवाई की जाती है।

Continue Reading

About Author
Shashank Baranwal

Shashank Baranwal

पत्रकारिता उन चुनिंदा पेशों में से है जो समाज को सार्थक रूप देने में सक्षम है। पत्रकार जितना ज्यादा अपने काम के प्रति ईमानदार होगा पत्रकारिता उतनी ही ज्यादा प्रखर और प्रभावकारी होगी। पत्रकारिता एक ऐसा क्षेत्र है जिसके जरिये हम मज़लूमों, शोषितों या वो लोग जो हाशिये पर है उनकी आवाज आसानी से उठा सकते हैं। पत्रकार समाज मे उतनी ही अहम भूमिका निभाता है जितना एक साहित्यकार, समाज विचारक। ये तीनों ही पुराने पूर्वाग्रह को तोड़ते हैं और अवचेतन समाज में चेतना जागृत करने का काम करते हैं। मशहूर शायर अकबर इलाहाबादी ने अपने इस शेर में बहुत सही तरीके से पत्रकारिता की भूमिका की बात कही है– खींचो न कमानों को न तलवार निकालो जब तोप मुक़ाबिल हो तो अख़बार निकालो मैं भी एक कलम का सिपाही हूँ और पत्रकारिता से जुड़ा हुआ हूँ। मुझे साहित्य में भी रुचि है । मैं एक समतामूलक समाज बनाने के लिये तत्पर हूँ।