Morena News : पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, मोस्ट वांटेड इनामी बदमाश गिरफ्तार

arrest

Morena Police News :  आपराधिक गतिविधियों को अंजाम देने वाले शातिर बदमाश आशू तोमर को आख़िरकार आज मुरैना पुलिस ने धर दबोचा है। गैंगस्टर आशु तोमर 3 साल पहले एक अन्य गैंगस्टर पंकज सिकरवार की हत्या के बाद से ही फरार चल रहा था। गैंगवार में पंकज सिकरवार की हत्या हुई थी, जिसमें प्रमुख आरोपियों में आशु तोमर भी शामिल था। पुलिस ने उस पर 60 हजार रुपए का ईनाम रखा था। लेकिन वह पुलिस की पकड़ से दूर बना हुआ था। उसने बड़ी ही चालाकी से लगातार 3 साल तक 16 मोबाइल और 64 सिम बदले, जिससे पुलिस उसको मोबाइल लोकेशन के आधार पर ट्रैस न कर सके। पुलिस को चकमा देने के लिए भी गैंगस्टर अमूमन चलती ट्रेन में मोबाइल छोड़ देता था, जिससे पुलिस लोकेशन को लेकर हर बार गुमराह हो जाती थी।

2022 में भाजपा नेता की दुकान पर की फायरिंग

गौरतलब है कि अंबाह शहर के प्रतिष्ठित सर्राफा व्यापारी एवं बीजेपी के पार्षद संतोष वर्मा के यहां अपने दो साथियों के साथ मिलकर दुकान में तोड़फोड़ और फायरिंग भी की थी संतोष वर्मा को 2022 में एक धमकी भरा पत्र भी भेजा था जिसमें इस अपराधी ने ₹5,00,000 लाख रुपया की डिमांड की थी जिससे पूरा व्यापार मंडल दहशत में आ गया था पुलिस ने आरोपी के खिलाफ 307 और 34 के तहत कायमी की गई।

Morena News : पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, मोस्ट वांटेड इनामी बदमाश गिरफ्तार

Morena News : पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, मोस्ट वांटेड इनामी बदमाश गिरफ्तार

मुरैना पुलिस अधीक्षक आशुतोष बागरी द्वारा एक टीम का गठन किया गया यह टीम बहुत समय से इस मुजरिम की तलाश में थी पुलिस द्वारा बताया गया कि यह अपराधी एक जगह पर 1 दिन से ज्यादा नहीं दिखता था पुलिस ने अपना मुखबिर तंत्र मजबूत किया और मुरैना में गैंगस्टर आशु तोमर के लिए जाल बुनना शुरू कर दिया। बीते रोज पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली की आशु तोमर अंबाह से आगरा भागने की फिराक में है। पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर से आशु तोमर और उसके दो साथियों को अम्बाह से गिरफ्तार कर ही लिया। आशु तोमर और उसके 2 साथियों के कब्जे से पुलिस ने 2 पिस्टल भी बरामद की है। पुलिस द्वारा बताया जा रहा है कि यह वही पिस्टल है जोकि पंकज सिकरवार हत्याकांड में इस्तेमाल की गई थी।
मुरैना से नितेंद्र शर्मा की रिपोर्ट


About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है। वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”

Other Latest News