मुरैना,संजय दीक्षितमुरैना जिले में अचानक पहुचें प्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने मुरैना और अंबाह तहसील के कई क्षेत्रों का दौरा किया। उन्होंने बिजली सप्लाई को लेकर जमीनी हकीकत जानने के लिए गांव के लोगों से बातचीत भी की। बिना मीटर के एक ग्रामीण के यहां बिजली का बिल लगातार आने पर भी उन्होंने मामले को गंभीरता से लिया और अधिकारियों को मौके पर ही निर्देशित किया कि वे मीटर नया लगाएं और रीडिंग के अनुरूप ही बिल जारी करें। दिन भर उमस भरी गर्मी में जब वे मुरैना तहसील के घुसगंवा गांव में पहुंचे तो एक निर्धन परिवार वासुदेव नागर के यहां उन्होंने घर की महिला से कुछ खाने को मांगा।

Read More: MP Board: इस फार्मूले से तय होंगे 12वीं के रिजल्ट! तैयारी पूरी

महिला ने आदर के साथ घर के अंदर भोजन कराने की गुजारिश की, लेकिन उन्होंने घर के बाहर ही चबूतरे पर बैठ कर खाना खाया।उन्होंने वासुदेव नागर के परिवार की आमदनी का जरिया और उनकी परेशानियों को भी समझा।मौके पर अधिकारियों को निर्देशित किया कि उक्त परिवार को किसी भी तरह की दिक्कत नहीं आनी चाहिए। मुरैना से अंबाह इलाकेे में जाते समय बड़ागांव चौराहे पर रुके जहां उन्होंने दुकानदारों से बिजली सप्लाई को लेकर सवाल जवाब किए तो स्थानीय लोगों ने बताया कि उन्हें बिजली मिल रही है।

Read More: Tuition Fees: निजी स्कूलों ने की 30 से 50% फीस बढ़ोतरी! अभिभावकों की शासन से बड़ी मांग

कभी कभार चली जाती है लेकिन फिर आ भी जाती है कुछ ग्रामीणों ने मंत्री तोमर को ट्रिपिंग की समस्या जरूर बताई। जिस पर उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया है कि वे समय रहते ट्रिपिंग के लिए पेड़ की डालियां झाड़ और पक्षी के घोंसलो को तुरंत हटाए। इस बारे में ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने कहा कि मुरैना में उनका काफी दिनों बाद आना हुआ है। यहां के लोगों से मिलना एक सुखद अनुभव रहा। उन्होंने कहा कि ग्रामीणों से मिलकर वस्तु स्थिति पता चलती है। इसलिए उन्होंने ग्रामीणों से बातचीत की है। निर्धन नागर परिवार के यहां भोजन करने के सवाल पर उन्होंने कहा कि उन्हें भूख लगी थी। कई दिनों बाद गांव की चौपाल पर भोजन का उन्होंने आनंद लिया है।