कोरोना कर्फ्यू में लड़कियों से लगवाई उठक-बैठक, वीडियो वायरल

कोरोना कर्फ्यू (Corona Curfew) में लड़कियों से उठक-बैठक लगवाने का एक वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। वहीं लोगों ने इस करने वाले अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

मुरैना, संजय दीक्षित। कोरोना कर्फ्यू (Corona Curfew) के दौरान सड़क पर लड़कियों से उठक-बैठक लगाई जा रही है। जिसका वीडियो सोशल मीडिया (Social Media) पर जमकर वायरल हो रहा है। यह वीडियो पोरसा कस्बे का बताया जा रहा है। जानकारी के अनुसार यह वीडियो शुक्रवार दोपहर का है। घर में शादी होने के कारण घर से चार लड़कियां बैंक से रुपए निकालने के लिए गई थी। बैंक से लौटते समय अधिकारियों ने लड़कियों को रोका और 100-100 जुर्माना भरने की बात कही। जब लड़कियों ने पैसे देने से मना किया तो अधिकारियों ने उनसे सड़क पर ही उठक- बैठक लगवाई। जिसका आसपास के मौजूद लोगों ने वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया है।

यह भी पढ़ें:-भिण्ड : शादी समारोह में उड़ी कोरोना नियमों की धज्जियां, आयोजकों के खिलाफ मामला दर्ज

लॉकडाउन में बाहर निकलने पर पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों के द्वारा युवकों से उठक बैठक लगवाना आम बात हो गई है। लेकिन लड़कियों से उठक बैठक लगवाने का संभवतः मध्य प्रदेश में पहला मामला है। बताया जा रहा है कि उठक बैठक लगाने वालों में कुछ नाबालिग लड़कियां भी है। वहीं आसपास के लोगों ने अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है। लोगों का कहना है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान हर शुभ कार्य करने से पहले कन्याओं का पूजन करते हैं और प्रदेशभर की लड़कियों के मामा माने जाते हैं और दावा करते हैं कि उनकी भांजियों पर आंच नहीं आने दी जाएगी, लेकिन उनके ही शासनकाल में अक्सर उनकी भांजियों को सरेआम उठक बैठक लगवा कर बेज्जती की जा रही हैं।

यह भी पढ़ें:-उर्वशी रोतैला के डांस परफॉर्मेंस ने मचाई धूम, हॉलीवुड से भी मिली तारीफ

लोगों का कहना है कि वीडियो में पोरसा के मौजूद तहसीलदार राजकुमार नागोरिया है। इस बारे में तहसीलदार नागोरिया ने कहा कि मैं वीडियो में नहीं हूं। जो वीडियो आज का है तो मैं इसकी जांच करवाऊंगा। यदि नहीं है तो भी पता लगाया जाएगा कि यह वीडियो कब का है और क्यों वायरल किया गया। वहीं आसपास के लोगों का कहना है कि इस वीडियो में तहसीलदार राजकुमार नागोरिया काली शर्ट में दिखाई दे रहे हैं और उनके पास पटवारी भी खड़े हुए हैं। जो लड़कियों को उठक बैठक लगवा रहे हैं।

मामले में कलेक्टर बक्की कार्तिकेयन का कहना है कि मुझे इस मामले की जानकारी नहीं है। इस पर तहसीलदार के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इसके साथ ही चंबल संभाग के संभागायुक्त आशीष सक्सेना से बात की गई तो उन्होंने कहा कि यह वीडियो पिछले साल का है इसकी जांच कराई जाएगी। जो भी अधिकारी दोषी होंगे उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। लेकिन आधिकारिक तौर पर इस वीडियो में संबंधित अधिकारियों की पुष्टि नही की जा सकती हैं। जांच के बाद पूरे मामले का खुलासा किया जाएगा।