पुलिस ने कार से पकड़ी 70 पेटी अवैध शराब, आबकारी अमला हो रहा नाकाम

एक तरफ जहां आबकारी महकमे की सक्रियता कम होती जा रही है तो वहीं दूसरी तरफ जिले में पुलिस के मुखबिर तंत्र बढ़ते जा रहे हैं

मुरैना, संजय दीक्षित।  अवैध शराब की बिक्री को रोकना और अवैध शराब के धंधे में लिप्त लोगों को सलाखों के पीछे पहुँचाने का काम  आबकारी विभाग का होता है लेकिन मुरैना जिले के मामले में कहा जा सकता है कि अवैध शराब पकड़ने में आबकारी महकमा और उसका मुखबिर तंत्र फेल होता नजर आ रहा है। इसका ताजा उदाहरण है पुलिस द्वारा एक कार से पकड़ी गई 70 पेटी अवैध शराब।

दर असल स्टेशन थाना प्रभारी आशीष राजपूत को देर रात मुखबिर द्वारा सूचना मिली कि एक काले कलर की जियालो गाड़ी में अवैध शराब की पेटियां भरकर राजस्थान से मुरैना की तरफ आ रही हैं । टीआई आशीष राजपूत ने मुखबिर की सूचना से साधू सिंह गुर्जर के नेतृत्व में टीम बनाकर गंजरामपुर की तरफ रवाना की। तो सामने से एक काले कलर की जियालो गाड़ी आती हुई दिखाई दी ,जिसे रोकने की कोशिश की तो आरोपी गाड़ी को भगा ले गया।

ये भी पढ़ें – MP में कांग्रेस विधायक पर FIR दर्ज, अधिकारी पर हमला करने का मामला

पुलिस ने पीछा कर जियालो गाड़ी में बैठे एक आरोपी को पकड़ लिया। पुलिस ने जियालो गाड़ी नंबर एमपी 04 सीके 9679 को चेक किया गया तो भारी मात्रा में अवैध शराब भरी हुई थी। कार में बैठे कुछ लोग मौके का फायदा उठाकर भागने में सफल हो गए। पुलिस ने कार चलाने वाले एक युवक को गिरफ्तार कर लिया है। इस पूरे मामले में टीआई आशीष राजपूत का कहना है कि 24 पेटी रॉयल क्लासिक, 22 पेटी बोदका, 21 पेटी कंट्री क्लब और 2 पेटी 50-50 ब्रांड की और 1 पेटी में कुछ बोतल फूटी,  कुल 70 पेटी शराब कार में रखी हुई थी। शराब की कीमत करीब 3 लाख रुपए बताई गई है गाड़ी की कीमत करीब 4 लाख मिलाकर कुल 7 लाख रुपए का माल पुलिस ने जब्त किया है । आरोपी मिर्घान थाना क्षेत्र का रहने वाला है। वह शराब तस्कर है। जियालो गाड़ी के पीछे नंबर प्लेट पर भदौरिया लिखा हुआ है ।गाड़ी का मालिक कौन है, जिसकी जांच की जा रही है। गाडी भोपाल नंबर पास है।

ये भी पढ़ें – Gwalior News : पुलिस कस्टडी में युवक की मौत, न्यायिक जांच शुरू, सिपाही निलंबित

पुलिस ने कार से पकड़ी 70 पेटी अवैध शराब, आबकारी अमला हो रहा नाकाम पुलिस ने कार से पकड़ी 70 पेटी अवैध शराब, आबकारी अमला हो रहा नाकाम

गौरतलब है कि मुरैना जिले में अवैध शराब का कारोबार धड़ल्ले से चल रहा है लेकिन आबकारी महकमा मौन धारण किए हुए हैं । मुरैना जिले के आसपास अवैध शराब की भट्टियों में नकली शराब बनाने का कारोबार तेजी से चल रहा है। नकली शराब कारोबार में आबकारी महकमे का मुखबिर तंत्र फेल होता नजर आ रहा है। एक तरफ जहां आबकारी महकमे की सक्रियता कम होती जा रही है तो वहीं दूसरी तरफ जिले में पुलिस के मुखबिर तंत्र बढ़ते जा रहे हैं।

ये भी पढ़ें – Petrol-Diesel Price: आम आदमी को बड़ा झटका, कम नहीं होंगे पेट्रोल-डीजल के दाम