ग्वालियर, अतुल सक्सेना। ख़ूबसूरत ऐसिहासिक धरोहरों को सहेज कर रखने वाले मध्यप्रदेश (MP) के दो शहरों को यूनेस्को (Unesco)  ने हिस्टोरिक अर्बन लैंडस्केप (HUL) स्कीम में शामिल कर लिया है , अभी तक इसमें भारत के दो शहर उत्तरप्रदेश का  बनारस और राजस्थान का पुष्कर (अजमेर) शामिल थे। यूनेस्को को इस स्कीम में शामिल होने से अब तक जो पर्यटक दिल्ली- आगरा से वापस चले जाते थे वे अब ग्वालियर और ओरछा आएंगे।  मध्यप्रदेश में इस स्कीम का वर्चुअल शुभारम्भ 20 जुलाई को होगा।

मध्यप्रदेश का पर्यटन विभाग प्रदेश के पर्यटन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से तमाम ऐसे प्रयास करता है कि पर्यटक मध्यप्रदेश की तरफ आकर्षित हो।  मध्यप्रदेश में ऐतिहासिक धरोहरों की एक लम्बी श्रंखला है लेकिन विदेशी पर्यटक मध्यप्रदेश में कुछ खास पर्यटन स्थलों पर ही पहुंचता है। लेकिन अब यूनेस्को की हिस्टोरिक अर्बन लैंडस्केप (HUL) स्कीम का लाभ मध्यप्रदेश को मिलेगा।

ये भी पढ़ें – MP में कोरोना आंकड़ों ने फिर बढ़ाई चिंता, सीएम शिवराज सिंह बोले- ये तीसरी लहर को निमंत्रण देना

मध्यप्रदेश के पर्यटन विभाग के प्रमुख सचिव शिवशेखर शुक्ला के मुताबिक यूनेस्को (दिल्ली) और मध्यप्रदेश टूरिज्म बोर्ड के संयुक्त प्रयास से हिस्टोरिक अर्बन लैंडस्केप (HUL) स्कीम प्रोजेक्ट शुरू हो रहा है।  खास बात ये है कि इसमें ग्वालियर और ओरछा दोनों शहरों की ऐतिहासिक धरोहरों को सहेजा जाएगा। शिवशेखर शुक्ला ने ग्वालियर कलेक्टर को इस स्कीम के लिए एक नोडल अधिकारी अलग से नियुक्त करने के लिए कहा है जिससे इस स्कीम में तेज गति से काम हो सकेगा। स्कीम के लिए नियुक्त नोडल अधिकारी ही यूनेस्को के विशेषज्ञों के साथ ऐसतिहासिक इमारतों की जानकारी इकठ्ठा कर इन्हें सहेजने की गाइड लाइन तैयार करेंगे।

ये भी पढ़ें – सरकारी नौकरी: यहां 2100 पदों पर निकली है भर्ती, 29 से पहले करें आवेदन, अच्छी मिलेगी सैलरी

जानकारी के अनुसार मध्यप्रदेश टूरिज्म बोर्ड के इस कार्यक्रम का वर्चुअल शुभारम्भ 20 जुलाई मंगलवार को होगा। यूनेस्को की हिस्टोरिक अर्बन लैंडस्केप (HUL) स्कीम के मध्यप्रदेश में शुभारम्भ मौके पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान , पर्यटन मंत्री उषा ठाकुर विशेष रूप से शामिल होंगे। इसके अलावा यूनेस्को के संचालक सहित मध्यप्रदेश पर्यटन विभाग के प्रमुख सचिव शिवशेखर शुक्ला, यूनेस्को के प्रमुख वास्तुविद निशांत उपाध्याय शामिल होंगे। ग्वालियर से इस कार्यक्रम में कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह, नगर निगम आयुक्त शिवम वर्मा और स्मार्ट सिटी कंपनी की सीईओ जयति सिंह शामिल होंगे।

ये भी पढ़ें – उत्तरप्रदेश जाएं तो साथ रखें कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट, योगी आदित्यनाथ ने बढ़ाई सख्ती