युवाओं पर हो रहा सट्टे और जुए का असर, रोजाना लाखों रुपयों का होता है कारोबार

भू-माफियाओं, सटेरियां (सट्टा) नीमच जिले की पुलिस को खुले आम चुनौती दे रहे हैं। जाने क्या है पूरा मामला...

नीमच, कमलेश सारडा । मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भू-माफियाओं, तस्करों सहित सट्टा, जुआ माफियाओं पर नकेल कसने का फरमान जारी कर रखा है। जिसके तहत कुछ दिन पहले मंदसौर जिले के मल्हारगढ़ में सटोरियों के ठिकानों पर पुलिस प्रशासन द्वारा प्रशासनिक कार्रवाई भी की गई थी। जिसके तहत मामा का बुलडोजर भी चलाया गया था। इसके बावजूद भी प्रदेश में भू-माफियाओं, तस्करों का आतंक थमने का नाम नहीं ले रहा। बता दें कि भू-माफियाओं, सटेरियां नीमच जिले की पुलिस को खुले आम चुनौती दे रहे हैं। ऐसे में पुलिस पूरे मामले को संज्ञान में लेकर स्पेशल दल का गठन करें और मामले की छानबीन करें, जिससे पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लग सकती है।

यह भी पढ़ें – Mandi Bhav: इंदौर में आज ये रहा अनाज और सब्जी का दाम, देखें 18 अक्टूबर 2022 का मंडी भाव

दरअसल, यहां पर जुआ माफियों ने अवैध जुआ का खेल जमाया हुआ है। जहां पर रोजाना मंदसौर, प्रतापगढ़, जावरा, रतलाम, निम्बाहेडा, चित्तोड़ सहित अन्य जिलो से जुआरी महफील जमाने पहुंचते हैं। केवल इतना ही नहीं यहां पर हर जुआरी से जुआ खेलने का समय पूछा जाता है। जितना समय से जुआरी जुआ खेलता है उससे प्रत्येक घंटे के बैठक के हिसाब से 500 रुपये वसूले जाते हैं। ऐसे में यदि जुआरी के पास पैसा खत्म भी हो जाए है तो, वहां पर सट्टा चलाने वाले उस जुआरी को अवैध ब्याज पर रुपया देने के लिए भी तैयारी रहते है और यहां ब्याज इन के हिसाब से ही तय होता है और 2 हजार रुपये उधार लेने के 2 घंटे बादं 5 हजार रुपये चुकाने होते है। ऐसे में इन अवैध सट्टा चलाने वालो कि टीम के जंजाल में फंसकर सैकड़ो की तादाद में प्रतिदिन जुआरी अपनी किस्मत आजमाने आते है। बता दें कि जुआ-सट्टा जैसे संगीन अपराध में युवा वर्ग में ज्यादा असर देखने को मिल रहा है।

यह भी पढ़ें – इस दिवाली मिलावटी खाद्य पदार्थों से बचिए, घर पर ही कीजिए नकली घी मावा पनीर की पहचान 

आजकल के युवा वर्ग सट्टा एवं जुआ जैसे संगीन अपराध में बड़ी तेजी से संलिप्त होते जा हैं और हर कोई इस अपराध को रोकने में नाकाम साबित हो रहे हैं। सिटी थाना क्षेत्र में खुले आम जुआ सट्टे का कारोबार खूब चलता दिख रहा है जबकि हकीकत में यहाँ जुआरी सटोरियों के कारनामों को जानने के बाद भी पुलिस के स्थानीय और आला अधिकारी चुप्पी साधे बैठे हैं और यही वजह है कि यह कारोबार सिटी थाना क्षेत्र से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में भी कॉफी फल फूल रहा है। इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि लोग अब खुलेआम जुआ सट्टा खेल रहे हैं और उनमें पुलिस का भी कोई डर नहीं नजर आ रहा हैं। वहीं, पुलिस भी इस पूरे मामले पर अपनी आंखें मूंदे हुए हैं। हालात देखकर लगता है कि इस पूरे मामले में कहीं-ना-कहीं पुलिस द्वारा सटोरियों पर कोई बड़ी कार्यवाई नही कर रही हैं और लोग खुलेआम सट्टा लगा रहे हैं।

यह भी पढ़ें – IMD Alert : 10 राज्यों में बारिश का येलो अलर्ट, बंगाल की खाड़ी में चक्रवाती सर्कुलेशन, निम्न दाब से बदलेगा मौसम, 7 में कोहरे-गुलाबी ठंड की दस्तक, जानें पूर्वानुमान 

सूत्रों से मिली जानकारी के मूताबिक, सिटी थाना क्षेत्र में धड़ल्ले से चल रहे इस कारोबार को इलाके के सफेद पोश नेताओं और थाने का खुला संरक्षण प्राप्त है। यहां पर प्रतिदिन लाखों रुपयों का कारोबार होता है जबकि अन्य क्षेत्रों से भी अवैध कमाई इस कारोबार से की जा रही है। जिसकी लालच में फंसकर कई लोग अपनी किस्मत आजमाते है और बाद में इसमें फंसकर अपना सबकुछ भी गवां बैठते है। इस अवैध कारोबार में लिप्त लोगों पर कोई कार्रवाई नहीं होती है और अवैध कारोबार में लिप्त गिरोह के लोगो के हौंसले बुलंद होते चले जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें – Diwali से पहले Yamaha ने बाइक लवर्स को दिया झटका, इन मॉडल्स की कीमतें बढ़ाईं