राजगढ़। मनीष सोनी।

मध्यप्रदेश के राजगढ़ जिले के खिलचीपुर व श्री कृष्ण गोशाला में गायों के मरने का सिलसिला थम नहीं रहा है.यह हर दिन गायों की मौत के मामले सामने आ रहे हैं. जिससे पूरे जिले में हड़कम्प मचा हुआ है।

यहां के खिलचीपुर नगर व श्री गौशाला में पिछले 3 महीनों में 400 से अधिक गायों की मौत हो चुकी है.ये आंकड़े आपको हम नही वल्कि वो बता रहे है जो इन गायों के शवों को नगर व गौ शाला से उठाने का काम करते है , गायों के शव उठाने वाले डूंगर नामक युवक का कहना है कि यह गायों की मौत हर दिन हो रही है ,ओर जब उनसे तीन माह की गायों की मौत का आंकड़ा पूछा गया तो उन्होंने बताया कि 3 माह में अभी तक वो 400 से अधिक गायों के शवों को उठा चुके है ।।

खिलचीपुर की  इस श्री कृष्ण गौ शाला में 600 गाय रखने की क्षमता है,परन्तु आस पास के ग्रामीण हर रोज इस गौ शाला में अपनी गायों के झुंड को गांव के आसपास से लाकर छोड़कर जा रहे है , जिसके कारण 600 गायों की क्षमता वाली इस गौ शाला में 2500 गायों है।आसपास के ग्रामीणों की खेत मे लगी फसले को बचाने के लिए ग्रामीण आस पास से गायों को यह लाकर छोड़ रहे है ।।

हर दिन हो रही गाय की मौत

गायों के शव उठाने वाले युवक व नगर के गौ सेवक की माने तो खिलचीपुर व गौ शाला में हर दिन गाय की मौत का मामला सामने आ रहा है , बावजूद इसके प्रशासन इसकी सुध लेने को राजी नहीं है।शुक्रवार को खिलचीपुर की श्री कृष्ण गौशाला में गायों की मौत की खबर सुनकर नगर परिषद खिलचीपुर के cmo ,मामले को देखने पहुचे तो हमने गायों की हो रही मौत को लेकर उनसे सवाल किया।

के .के.शिवहरे, CMO ,नगर परिषद खिलचीपुर 

सवाल-जवाब

रिपोर्टर-खिलचीपुर गौशाला में अभी आप आए हैं 7 गायों के यहां शव पड़े हैं नगर में वह भी गायों की मौत हो रही है क्यों रही मौत?

सीएमओ- अब यह तो डॉक्टर ही बता सकते हैं कि गाय की मौत क्यों हो रही है मेरे हिसाब से तो सर्दी की वजह से हो रही है, नहीं पॉलिथीन तो अब मार्केट में नहीं है उसकी जांच  भी कर रहे हैं पॉलिथीन तो बाजार में मिल रही है ।

रिपोर्टर-ये श्री कृष्ण गोशाला में अभी 7 शव गायों के पड़े हैं, रोज नगर में आसपास गाय की मौत हो रही है क्यों रही है?

गौ शाला अध्यक्ष -आसपास फसल की वजह से सब किसान गायों को गौशाला में छोड़ जाते हैं, गौशाला की कैपेसिटी है 600 गाय की लेकिन यहां हर रोज शाम को 2 से अधिक गाय को आसपास के किसान छोड़ जाते है , खिलाने के चारे की कोई कमी नहीं है गौशाला में पानी की कोई कमी नहीं है ठंड के प्रकोप से ही गाय की मौत हो रही है, ठंड से गाय की मौत हो रही है भूख की वजह से कोई मौत नहीं हो रही है, किसान रात को आसपास से अपनी फसल को बचाने के लिए गायों को यहां छोड़ देते हैं जितने 

रिपोर्टर-नए गोशाला खुली है  उनमें कोई गाय नहीं रखते हैं, सब यही लाकर छोड़ते हैं, इस साल का गोशाला में शासन अनुदान नहीं आया है।

कर्मचारी- आज हम खिलचीपुर गौशाला से 7 गाय के शव लाये है , रोजाना कभी दो तीन चार पांच ऐसे गाय की मौत होती है, 3 महीने में करीब 400 से 500 के शव हम उठा चुके है ।

गौ-सेवक- आज 7 गाय को गौशाला में मर चुके इस टाइम  , हर रोज नगर में में 5 से 7 गाय की मौत हो रही है, 3 महीने में लगभग 300 से 400 गायों की मौत हो चुकी है, गौशाला व नगर में आसपास